ब्रेकिंग न्यूज

बक्सर खबर: सिमरी प्रखंड के आशा पड़री मुखिया के पुत्र व पति को पचास लाख नही देने पर जान से मार देने की धमकी मिली है। जिसको लेकर मुखिया उर्मीला देवी ने तीन लोगों पर कोर्ट में परिवाद दायर किया था। जिसके बाद पुलिस ने जांच के बाद एफआईआर बुधवार को दर्ज कर दिया। मुखिया ने आरोप लगाया कि गांव के शिवजी तिवारी, संतोष राजभर व सिद्धार्थ तिवारी ने 20 जुलाई को विकास योजनाओं की समीक्षा करने के लिए जा रही थी। उसी दौरान तीनों लोग घेर कर कहा कि या तो प्रत्येक महीने पचास हजार रूपया दे दो तो पंचायत में योजना का काम कराओ नही काम नही करने देगें। झूठा गबन का आरोप लगा कर शिकायत दर्ज करा काम नही होने देगें।

अगर ऐसा नही करोगी तो पचास लाख रूपया दो नही तो तुम्हारे पति सरोज तिवारी व बेटे को जान से मार देगें। लगातार गांव में अपराधी प्रवृति के लोगों का जमावड़ा लगा रहे है। जिससे हमारे पति व बेटे की हत्या का अशंका प्रबल हो जाती है। सिद्धार्थ तिवारी व संतोष राजभर सिमरी कांड संख्य 349/17, 278/17 में मारपीट व डकैती केस में पुलिस अनुसंधान में मामला सही पाया गया है और वे जमानत पर है। जबकि शिवजी तिवारी सिमरी कांड 09/12 में भाई के मृत्यु के बाद फर्जी तरीके से संपति हड़प लिए जिसका कोर्ट में सुनवाई हो रहा है। थानाध्यक्ष रंजीत कुुमार ने कहा कि प्रथम दृष्टतया मामला सत्य पाया गया। जिसके बाद एफआईआर दर्ज कर लिया गया है।