बक्सर खबर : जिलाधिकारी अरविंद कुमार शनिवार को पूरे तेवर में नजर आए। चौगाई प्रखंड कार्यालय का निरीक्षण गए तो लगे हाथ स्कूलों का भी जायजा लिया। पहुंच गए चौगाई प्रखंड के लक्ष्मीपुर मध्य विद्यालय। निरीक्षण के क्रम में स्कूल में गंदगी देखकर प्रधानाध्यापक पर भड़क उठे। उनको जरुरी नसीह दे कार्यालय में गए। शिक्षकों की पंजी देखा तो पता चला शिक्षक मंसूर आलम गायब हैं। उनका वेतन बंद करने का आदेश डीएम ने दिया।
साथ ही बच्चों की कम उपस्थिति देख प्रधानाध्यपाक को फटकार लगाया। डीएम अरविंद वर्मा कक्षा में गुरूजी की भूमिका में नजर आए। बच्चों से क्रय-विक्र के बारे पूछा जिसपर बच्चे निरउतर हो गए। इसके बाद बच्चों को 15 मिनट तक पढ़ाया फिर मन लगाकर पढ़ने की सलाह दी। इसी क्रम उन्होंने विद्यालय में बने मध्यान भोजन को चखा। इसके उपरांत उच्च विद्यालय चौगाई पहुंचे। वहां प्रधानाध्यापक समेत छह शिक्षक नहीं मिले। इनमें चार लोगों ने विद्यालय में आवेदन रखा था। लेकिन कोई भी स्वीकृत नहीं था। एक शिक्षक का आवेदन नहीं था। जांच में पता चला एक शिक्षक डीपीओ कार्यालय गए हैं। डीएम ने पांच शिक्षकों का वेतन बंद करने का फरामान जारी किया।
छात्रों को पढाते डीएम अरविंद कुमार वर्मा