बक्सर खबर। जदयू के प्रदेश अध्यक्ष सह राज्यसभा सांसद वशिष्ठ नारायण सिंह को अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय का कोर्ट सदस्य मनोनित किया गया है। उनका यह मनोनयन भारत सरकार के मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा किया गया है। श्री सिंह मूलरूप से डुमरांव के रहने वाले है। उनके मनोनय की खबर मिलते ही उनके गृह नगर डुमरांव सहित जिले में खुशी की लहर दौड़ गई। उनके शुभचिंतकों तथा सामाजिक, शैक्षणिक संस्थान तथा राजनैतिक दलों से जुड़े लोगों ने उन्हें बधाई दी है।

बधाई देते हुए मानवाधिकार संरक्षण प्रतिष्ठान के जिलाध्यक्ष सह राष्ट्रीय परिषद सदस्य रामबहादुर सिंह ने कहा कि उनके मनोनय से बक्सर सहित पूरे बिहार की ख्याति में वृद्धि हुई है। उच्च शिक्षा के क्षेत्र में एक नया आयाम स्थापित हुआ है। वशिष्ठ नारायण सिंह को कोर्ट सदस्य बनने पर डीके कॉलेज डुमरांव के पूर्व प्राचार्य तथा मगध विश्वविद्यालय के भूगोल विभाग के पूर्व विभागाध्यक्ष बद्री प्रसाद सिंह ने कहा कि उनके अनुभव का लाभ एएमयू को मिलेगा। सिंह अपने जमाने के मेधावी छात्र तथा उच्च शिक्षित अनुभवी राजनीतिज्ञ हैं। सांसद वशिष्ठ नारायण के मनोनय को शिक्षा जगत के लिए मिल का पत्थर बताते हुए शिक्षाविद डा. रमेश सिंह ने कहा कि दादा एक सकारात्मक सोच वाले व्यक्ति हैं। अन्य खुशी प्रकट करने वालों में वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति डा. श्रीराम सिंह, शिक्षाविद एवं साहित्यकार ब्रह्मा पांडेय, समाजसेवी राजीव रंजन सिंह, वरिष्ठ पत्रकार शिवजी पाठक, प्रो. सुभाष चंद्रशेखर, डा. विनोद सिंह, अभयानंद पांडेय, कमलेश सिंह, डा. रजनीकांत पांडेय, शिवजी सिंह, पप्पु सिंह, अवध बिहारी पांडेय, नथुनी खरवार, विशोकानंद, अनिल केसरी आदि शामिल रहे। वहीं दूसरी तरफ बक्सर में जदयू के प्रदेश नेता अशोक सिंह व संजय सिंह आदि ने भी उन्हें बधाई दी है।

Comment