बक्सर खबर। डेढ़ वर्ष पहले जिस युवक के साथ अपने परिवार को छोड़ युवती ने शादी की थी। आज वहीं उसकी जान का दुश्मन बन गया। क्या प्यार का ऐसा ही अंत होता है। जिसने जीवन साथी बनने का भरोसा दिया था। वह चंद वर्षो में अपने सारे वादे भुल गया। यह दास्ता है उस युवती की। जिसकी लाश 10 जुलाई को अधजली हालत में सिमरी थाने खंधरा गांव के पास झाड़ी से मिली थी। जांच के क्रम उसकी पहचान हो गई है। पूछने पर डुमरांव डीएसपी केके सिंह ने बताया कि युवती सिकरौल थाना के भदार गांव की रहने वाली थी। लगभग डेढ़ वर्ष पहले उसने परिवार की इच्छा के विरूद्ध नया भोजपुरी ओपी अंतर्गत चिलहरी गांव के युवक विक्की राय पुत्र मुरली राय के साथ शादी की थी।

कुछ माह गुजरने के बाद परिवार के लोग उसके उपर दहेज के लिए दबाव बनाने लगे। इस वजह से उनके बीच अनबन रहने लगी। युवती ने भागकर शादी की थी। इस लिए वह चाहकर भी परिवार के लोगों से पूरी बात नहीं कह पा रही थी। पहचान होने के बाद परिवार के लोगों को शव सौंप दिया गया। वहीं सूत्रों की माने तो प्रीति के पिता रामजी सिंह ने पहले तो शव लेने से इनकार कर रहे थे। लेकिन, सबके समझाने पर उन्होंने अपनी बेटी का दाह संस्कार किया। इस सिलसिले में पूछताछ के लिए उसके ससुराल पक्ष के लोगों की तलाश जारी है। यह हत्या है या आत्महत्या। यह मामला ससुराल पक्ष के लोगों से पूछताछ होने के बाद ही खुलेगा।

Comment