बक्सर खबर। इस बार जिला प्रशासन स्वच्छता अभियान को लेकर काफी सख्त रवैया अपनाने के मूड में है। जिलाधिकारी राघवेन्द्र सिंह ने बुधवार को इसके संकेत दिए। डुमरांव में हुई बैठक के दौरान विकास मित्रों को उन्होंने शौचालय निर्माण के बाबत चेतावनी दी। कई लोगों ने बताया अब अधिकांश वैसे ही परिवार बचे हैं। जिनके पास भूमि नहीं है। यह बात जिलाधिकारी को अच्छी नहीं लगी।

उन्होंने कहा क्या प्रत्येक प्रखंड में इतनी बंड़ी संख्या में लोग भूमि हीन हैं। उनको रहने के लिए अपना घर अथवा छत नहीं है। क्या सीओ के पास ऐसे लोगों का प्रतिवेदन है। जिनके पास अपनी जमीन ही नहीं है। उनके इस सवाल ने सबको बेचैन कर दिया। क्योंकि अपना घर नहीं होने वालों की सूची पूर्व से ही प्रशासन के उपलब्ध है। जिनमें से अनेक को बासगित पर्चा पूर्व में वितरित किया गया है। लोग बगले झांकने लगे। जिलाधिकारी ने स्पष्ट किया। 2 अक्टूबर से पहले जिले को ओडीएफ मुक्त बनाया है। यह लक्ष्य सबके लिए चुनौती है। हर व्यक्ति को इसमें अभी से लग जाना होगा। बावजूद इसके जो आनाकानी करेंगे उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। मीडिया ने उनसे पूछा क्या कार्रवाई होगी। इस पर यह जवाब आया कि ऐसे परिवारों का राशन-किरासन बंद होगा। आवश्यकता पड़ी तो धारा 104 के तहत मुकदमा भी चलेगा।