बक्सर खबर। कृष्णाब्रह्म पुलिस के साथ अजीब घटना हुई। शुक्रवार की रात शिवध्यानी डेरा में हुई हत्या के बाद आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापामारी में जुटी थी। आधाी रात का वक्त हो चला था। तभी डीएसपी के हवाले से सूचना मिली। आपके इलाके में वांटेड अपराधी लोहा यादव देखा गया है। उस पर ध्यान दें। बगेन और मुरार थाने को भी सूचना दी गई है। कृष्णाब्रह्म की पुलिस अरियांव गांव के पास मुख्य पथ पर पहुंची। तभी एक बाइक गुजरती दिखी। पुलिस ने उसे रोका तो भागने लगा। पीछा हुआ वह बाइक सवार पकड़ा गया। उसने शराब पी रखी थी। पूछताछ हो ही रही थी। तभी दूसरी बाइक गुजरी। उसे भी रोकना चाहा लेकिन, वह भाग चला।

पुलिस टीम इसे छोड़ उसके पीछे लपकी। गाड़ी पास आती देख उसने कुछ नीचे फेंका। पुलिस रुक गई। पास जाकर देखा तो पिस्तौल थी। पुलिस को समझते देर नहीं लगी यही लोहा है। फिर क्या था, पिस्तौल बरामद की और उसके पीछे बढ़ी। तबतक वह अपनी बाइक छोड़ गेहूं के खेत में भाग गया। आगे-आगे लोहा, पीछे-पीछे पुलिस। तीन किलोमीटर तक पीछा हुआ लेकिन, वह चकमा देखकर भागने में सफल रहा। यह जानकारी शनिवार को कृष्णाब्रह्म थानाध्यक्ष मनोरंजन प्रसाद ने प्रेसवार्ता आयोजित कर दी। इधर दोनों बाइक सवार भागने में सफल हो गए। बरामद पिस्टल पर मेड इन इंडिया, 365 मॉडल लिखा है। उसमें पांच गोलियां लोड थी। लोहा यादव मुरार थाना क्षेत्र के मसर्हियां गांव का रहने वाला है। उसके उपर जिले के विभिन्न थानों में आम्र्स एक्ट व शराब तस्करी के डेढ़ दर्जन मामले दर्ज है।