बक्सर खबर। अस्पताल में हुई लापरवाही के कारण एक और नवजात बच्चे की मौत हो गई। मामला डुमरांव अनुमंडल अस्पताल का है। घटना गुरुवार रात की है। परिजनों ने हंगामा किया तो डाक्टर पहुंचे। उन्होंने ड्यूटी पर तैनात नर्स को डांट लगाई तो उसने अपने गांव के लोगों को बुलाया। आज शुक्रवार की सुबह उसके गांव के लोग पहुंचे तो उन्होंने डाक्टर के साथ मारपीट शुरू कर दी। सूचना डुमरांव पुलिस को मिली। अस्पताल में हंगामा की खबर सुन डीएसपी समेत थानेदार भी पहुंचे। मौके से तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया। अन्य सभी भाग खड़े हुए। इस मामले में अस्पताल प्रशासन की शिकायत पर प्राथमिकी दर्ज हुई है।

दोषी नर्स के खिलाफ जांच कर कार्रवाई की बात कही गई है। इस सिलसिले में पूछने पर अस्पताल और पुलिस प्रशासन ने बताया कि मामला गुरुवार रात का है। कोपवां गांव की मुन्नी देवी पत्नी महेन्द्र महतो को बच्चा होने वाला था। शाम सात बजे के लगभग उसने अपने पहले बच्चे को जन्म दिया। बच्चा स्वस्थ्य था। उसने मां का दूध पिया। एक घंटे के बाद मुन्नी देवी को तेज बुखार हो गया। ड्यूटी पर तैनात एएनएम निर्मला देवी के साथ विवाद हुआ। परिजन डाक्टर विनिश कुमार से मिले। उनसे शिकायत की। डाक्टर महिला वार्ड पहुंचे औरत को दवा दी। कुछ घंटे बाद बच्चा शांत हो गया। फिर क्या था परिवार के लोग भागे-भागे डाक्टर के पास पहुंचे। डाक्टर ने चेक किया तो बच्चा मृत मिला। उन्होंने तैनात नर्स को बहुत डांटा। इससे खफा नर्स ने डाक्टर के साथ जमकर हंगामा किया। हाथा-पाई तक की। यह देख डाक्टर ने वहां भर्ती अन्य प्रसव पीडि़ता को वहां से यह कहते हुए रेफर कर दिया कि अस्पताल में तैनात नर्स सहयोग नहीं कर रही है। कभी भी कुछ हो सकता है। खफा नर्स ने सुबह होने पर अपने गांव ईटाढ़ी के हरपुर से लोगों को बुलाया। यहां के आधा दर्जन की संख्या में डुमरांव पहुंचे लोगों ने डाक्टर के चेम्बर में घूस कर मारपीट शुरू कर दी। जिसकी शिकायत पुलिस से हुई। मौके पहुंची पुलिस ने विष्णु पासवान, विजय पासवान और विकास पासवान को गिरफ्तार कर लिया। मामले की गंभीरता को देखते हुए सिविल सर्जन उषा किरण वर्मा, डुमरांव एसडीओ हरेन्द्र राम, डीएसपी केके सिंह आदि ने पूरे मामले को सूना। डाक्टर ने कहा यहां आए दिन बच्चों की मौत हो रही है। यह बहुत ही गंभीर मामला है। रात की ड्यूटी में तैनात लोग दिए गए निर्देशों का पालन नहीं करते। इस मामले में जांच का आश्वासन देते हुए वरीय अधिकारियों ने कहा जांच में दोषी पाए जाने पर नर्स के खिलाफ कानूनी कार्रवाई होगी।

1 COMMENT

  1. Ye doctor v harami hai hum v ek bar is asptal me parsav ke liye Gaye the aur humne us raat kaarib 10 NAVjaato bacho Ko hospital ki laprvahi k Karn marte hue dekha aur inko thoda v is k liye dukh nahi tha humne foran apni family Ko private hospital me admit karaya aur delivery karaya .ye Na Jane kitane bacho ka kabrgah hai ye yahi doctor janata hoga.ya bhagBha.

Comment