बक्सर खबर। तारीफ करूं मैं किसकी, जिसने तुम्हें बनाया। यह खबर उन लोगों को समर्पित हैं। जो खुदा के नेक बंदे हैं। इसमें न तो नाम के रामराज शामिल हैं न सराफत। सब के सब सच्चे सेवा भाव से लोगों की मदद करने वाले हैं। जी हां आप अपने बक्सर को भले ही बुरा-भला कह लें। लेकिन जब इन युवाओं और समाज सेवियों के बारे में जानेंगे। तो इनकी प्रशंसा आप जरुर करेंगे। इसमें सबसे पहला नाम आता है अंत्योदय एक लक्ष्य टीम से जुड़े युवाओं का। जो प्रत्येक रविवार अपनी सामथ्र्य के अनुरुप।

भोजन के पैकेट बना गरीब बस्तियों, सड़क, मंदिर और स्टेशन के किनारे लोगों के बीच इसका वितरण करते हैं। इस मुहिम से जुड़े युवा गिट्टू तिवारी अक्सर बक्सर खबर को खबरें भेजते हैं। प्रत्येक रविवार उनकी खबरों को हम जगह नहीं दे पाते। लेकिन, इस टीम में शामिल विवेक मौर्य, हिमांशु यादव, अंकित राय, दीपक सिन्हा, मुकेश कश्यप, लक्ष्मीकांत राय, आलोक, जेपी गुप्ता, चंदन यादव, धनजी सिंह आदि युवाओं की तारीफ करनी होगी। यह कुछ नाम हैं। और भी युवा इससे जुड़े हैं। इनका यह अभियान पिछले एक वर्ष से चल रहा है।
रोटी बैंक, प्रतिदिन गरीब लोगों को कराता है भोजन
बक्सर खबर। जिला मुख्यालय में भूख से परेशान लोगों की मदद करने वाला सबसे सशक्त ग्रुप है रोटी बैंक। यह राष्ट्रीय संस्था से जुड़ा है। इसके सदस्यों ने लगभग पांच सौ लोगों का एक ग्रुप बनाया है। जिनमें कोई न कोई लगभग चालीस लोगों के भोजन का प्रबंधन किसी एक दिन करता है। इस तरह इनका अभियान सालो भर चलता रहता है। यह रात में स्टेशन के पास आते हैं। वहां फटेहाल, भिखरी अथवा बेसहारा लोगों को भोजन परोसते हैं। प्रतिदिन यह क्रम चलता है। इस टीम के जिला संयोजक हनुमान अग्रवाल ने बताया हमारे अध्यक्ष हैं अनूप प्रकाश। उनके कंधे पर बहुत बड़ी जिम्मेवारी है। जो सदस्य सहयोग के लिए कहते हैं। उन तक पहुंचना। भोजन का संग्रह करना और उसे जरुरत मंद लोगों को पहुंचाना। हमारे साथ रास बिहारी ओझा और भी बहुत लोग हैं। जो प्रतिदिन अपनी सेवा देते हैं। हम शहर के उन सभी लोगों का धन्यवाद करना चाहते हैं। जिनके सहयोग से यह प्रयास सफल हो पा रहा है।
शनिवार को महर्षि विश्वामित्र हिन्दू सेवा समिति ने उठाया बीड़ा
बक्सर खबर। इस अभियान से एक नई समिति जुड़ गई है। जिसमें शामिल युवाओं ने इसका नाम महर्षि विश्वामित्र हिन्दू सेवा समिति रखा है। इसके संस्थापक रंजीत राय बताते हैं। हमने लक्ष्य रखा है। प्रत्येक शनिवार कम से कम दो से चार सौ लोगों को भोजन कराने का। हम स्वयं खिचड़ी चोखा तैयार करते हैं। किला की दलित बस्ती, किला मैदान एवं भैरव मंदिर के पास तीन जगह फिलहाल सुबह में पंघत बैठाकर लोगों को आदर से भोजन कराते हैं। हम सुविधा और सहूलियत को देखते हुए खिचड़ी-चोखा का वितरण करते हैं। उनके इस अभियान में एके सिंह, अमन राय, मनोज सिंह, अखिलेश सिंह फिलहाल सहयोग कर रहे हैं। हिन्दू सेवा समिति इस अभियान में अभी हाल में जुड़ी है। लेकिन, एक दिन में सर्वाधिक लोगों को भोजन कराने का श्रेय इसको जाता है। सदस्यों के अनुसार इनका एक और लक्ष्य है। बेटियों का सामूहिक विवाह। जिसके लिए प्रयास जारी है।

add सप्ताहिक कालम यह भी जाने के प्रायोजक

खासियत और खामी
बक्सर खबर। इस तरह के प्रयास की जितनी प्रशंसा हो कम है। ऐसी भावना सबके अंदर होनी चाहिए। इन युवाओं की एक विशेषता है। वे जाति-पाती की बात नहीं करते। उनकी प्राथमिकता गरीब और असहाय को भोजन करना है। जबकि इस देश और जिले में ऐसे अनेक नेता संगठन हैं। जो जाति, धर्म, ओबीसी, पिछड़ा और न जाने क्या-क्या की बातें करते और सोशल साइट पर नफरत परोसते हैं। ऐसे लोगों को इससे सीख लेनी चाहिए। इस शानदार प्रयास की एक खामी भी हमें बतौर पत्रकार नजर आती है। जहां भोजन का वितरण होता है। वहां बच्चों की संख्या बहुत दिखती है। स्टेशन को छोड़कर। ऐसे बच्चों को यह समाजसेवी स्कूल, आंगनबाड़ी केन्द्र जाने के लिए प्रेरित नहीं करते। जहां इन छोटे बच्चों को शिक्षा के साथ स्कूल तथा आंगनबाड़ी में प्रत्येक दिन (छुट्टी को छोड़कर) भोजन भी मिल सकता है। जरुरी है कि इन परिवारों को इसके लिए प्रेरित किया जाए। नोट – इनसे मिलिए हमारा साप्ताहिक कालम है। जो प्रत्येक रविवार को प्रकाशित होता है। आप चाहें तो अपने क्षेत्र में बेहतर कार्य कर रहे लोगों की खबर हम तक पहुंचा सकते हैं। इसके लिए आप हमें 9431081027 पर संपर्क कर सकते हैं।

Comment