अस्पताल में मृत पड़े सोनू के शव को देखते डीएसपी व अन्य

बक्सर खबर। बस स्टैंड के पास जिस युवक की हत्या आज मंगलवार की रात आठ बजे की गई है। उसका नाम सोनू कुमार उम्र लगभग 25 वर्ष है। वह कोइरपुरवा निवासी दिनेश कुमार उर्फ दारा सिंह का पुत्र था। घटना के समय वह बस स्टैंड से वापस घर लौट रहा था। तभी दो युवकों ने उसे सीने में गोली मार दी। मौके पर मौजूद लोगों ने दोनों हत्यारों को दौड़ा कर पकड़ लिया। उनके द्वारा चलाई गई गोली से एक और युवक घायल हुआ है। जिसे हल्की चोट आई है।

पुलिस के अनुसार उसका नाम गणेश कुमार है। उसे कंधे के पास गोली लगी है वह खतरे से बाहर है। घटना की सूचना तत्काल लोगों ने नगर थाने को दी। पुलिस घटना स्थल पर पहुंची और दोनों हत्यारों को गिरफ्तार कर लिया। साथ ही घायल को लेकर दूसरी टीम अस्पताल पहुंची। जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। मौके पर पहुंचे सदर डीएसपी ने मृतक के पिता दारा से पूछताछ की। परिजनों के अनुसार यह पता नहीं है किस कारण से इन दोनों ने मेरे बेटे को मारा। डीएसपी की पहल पर शव को पोस्टमार्टम के लिए पुराना अस्पताल ले जाया गया।

मृतक के पिता से पूछताछ करते सदर डीएसपी

कोइपुरवा के ही हैं हत्यारे
बक्सर। इस घटना में जिन दो युवकों को पकड़ा गया है। उनके नाम कमलेश कुशवाहा व लल्लू कुमार कुशवाहा है।। यह दोनों भी कोइरपुरवा इलाके के ही रहने वाले हैं। पुलिस ने इनके पास से असलहा भी बरामद किया है। सदर डीएसपी सतीश कुमार ने इसकी पुष्टि की। पुलिस उन दोनों को नगर थाना ले गई है। जहां पूछताछ जारी है। सूत्रों के अनुसार उन्होंने बताया कि सोनू कुमार आटो चलाता है। कुछ दिन पहले उसने हमारी गाड़ी की बैटरी निकाल ली थी। उसी सिलसिले में हम लोग उससे पूछताछ करने गए थे। इसी बीच किसी दूसरे ने उन्हें गोली मार दी। हालाकि उनकी यह दलील गलत है। क्योंकि हत्या कर भागते हुए उन्हें लोगों ने पकड़ा। उस दौरान भी उनके द्वारा गोली चलाई गई। जिससे उनको पकडऩे दौड़ा गणेश भी घायल हो गया। वह तो संयोग रहा फुर्ती से नीचे झुक गया। जिसके कारण गोली उसे छूते हुए निकल गई। लोगों ने बताया गणेश के साहस का ही परिणाम रहा कि वे पकड़े गए। उस युवक का साहस देख आस-पास के लोग भी दौड़े। सभी ने मिलकर उन दोनों को ठोका और पुलिस के हवाले कर दिया।