ब्रेकिंग न्‍यूज

बक्सर खबर : बालू दुकानों के लिए मिलने वाले खुदरा विक्रेता लाइसेंस की प्रक्रिया सोमवार को पूरी नहीं हो सकी। हंगामें के कारण नगर भवन में होने वाली लाटरी प्रक्रिया को रद्द कर दिया गया। प्रशासन ने प्राप्त 1140 आवेदन में 310 को सही पाया था। जिनकी लाटरी होनी थी। लेकिन कुछ लोगों ने मौके पर ऐसा बखेड़ा खड़ा किया। प्रशासन चाहकर भी लाटरी के माध्यम से आवेदकों का चयन नहीं कर सका। जीन सात प्रखंड़ों में दुकान के लिए लाटरी होनी थी। वह प्रक्रिया अब दूबारा होगी। लेकिन कब होगी, इसकी सूचना जिला प्रशासन ने नहीं दी है। पूछने पर जिलाधिकारी अरविंद कुमार वर्मा ने बताया अगली तिथि जल्द ही तय होगी। जिन 310 लोगों के आवेदन सही पाए गए हैं। उनके बीच ही लाटरी निकलेगी। इसके लिए कोई नया आवेदन नहीं लिया जाएगा। जिन प्रखंड़ों में स्थान रीक्त रह गए हैं, वहां क्या होगा? जिलाधिकारी ने कहा उनके लिए आने वाले समय में आवेदन लिया जाएगा।

छटे आवेदनों की सूची देख भड़के लोग
बक्सर : खुदरा बालू अनुज्ञप्ति के लिए जिन लोगों ने आवेदन किया था। उसमें से 830 आवेदन अस्वीकृत हो गए। जिनकी सूची प्रशासन ने नगर भवन व खनन विभाग के कार्यालय के समक्ष चस्पा की थी। लेकिन कुछ लोगों की शिकायत थी। हमारा नाम दोनों में से किसी सूची में नहीं है। इसकी शिकायत करते हुए कुछ लोगों ने मुख्य सचिव एवं निदेशक खनन विभाग को भी पत्र व मेल भेजा है। सिकठी पंचायत के मुखिया प्रतिनिधि ने बताया बिहार के अन्य किसी जिले में आवेदन नहीं छाटे गए हैं। बावजूद इसके बक्सर में लाइसेंस देने से पूर्व ही प्रशासनिक मनमानी हुई है। इसके खिलाफ हम लोग आगे भी शिकायत करेंगे। इन सारी अटकलों के बीच बक्सर, चौसा, राजपुर, इटाढ़ी, डुमरांव, सिमरी व चौगाईं को छोड़ अन्य प्रखंड़ों में कुछ आवेदन और लिए जाएंगे। जो प्रथम लाटरी प्रक्रिया के बाद होगी।