बक्सर खबर। राजपुर थाना के सरेंजा गांव के तालाब से बुधवार की सुबह किशोरी की लाश बरामद हुई थी। पुलिस ने उसकी तस्वीर जिले के सभी थानों को उपलब्ध कराई है। बावजूद इसके उसकी पहचान नहीं हो पाई है। लाश को पोस्टमार्टम घर में रखा गया है। लेकिन किसी ने पुलिस को इस सिलसिले में सूचना नहीं भेजी है। जिससे यह पता चले कि वह कहां की है। पाठकों को यह पता होगा बुधवार को सोलह-सत्रह वर्ष की किशोरी की लाश मिली थी। जिसकी तस्वीर मीडिया में भी आई थी।

add

क्योंकि नहीं होती पहचान
बक्सर। आज के जमाने में आधार की तकनीक उपलब्ध है। बावजूद इसके पुलिस इस तकनीक का लाभ अज्ञात लोगों के पहचान में क्यूं नहीं करती। उंगली के निशान, आंख की रेटिना के आधार पर पहचान का प्रयास होता तो शायद कुछ मदद मिलती। लेकिन पुलिस किसी भी केस में इस तरह की पहचान का दावा नहीं करती। इसकी पीछे कोई तकनीकि कारण है या कुछ और यह बात भी सामने नहीं आती।