logo

बक्सर खबर । डुमरांव में एक जंगली सुअर ने आतंक मचा दिया है। ट्रेनिंग कालेज से दक्षिण टोला मुहल्ला के बीच उक्त सुअर ने लोगों को काफी परेशान कर रखा है। उसके हमले से एक दुधमुंही बच्ची समेत आधा दर्जन लोग घायल हो चुके हैं। जिनमें दो की हालत नाजूक बताई जा रही है। अनुमंडलीय अस्पताल से बेहतर उपचार के लिए रेफर कर दिया गया है। अन्य जख्मियों की हालत सामान्य है। जानकारी के अनुसार मंगलवार की शाम करीब सात बजे एक जंगली सुअर ट्रेनिंग कालेज केतरफ से निकला और डुमरांव-बिक्रमगंज पथ को पार करते हुए दक्षिण टोला को जाने वाली सड़क पर आ गया।

सुअर का पहला शिकार फूलन यादव की छह माह की बच्ची पम्मी बनी। लोग अभी कुछ समझ पाते इसके पहले ही सुअर ने इसी मुहल्ले की 60 वर्षीय पान कुमारी देवी पति स्व. रामनाथ यादव को जख्मी कर दिया। इसके बाद मुहल्ले के लोग हाथों में लाठी, भाला और अन्य परंपरागत हथियार लेकर उसका पीछा करने लगे। इस दौरान सुअर ने एक बकरी का पेट फाड़ दिया। जिससे उसकी मौत हो गई। वहीं भागने के क्रम में उसने मुहल्ले के चार अन्य लोगों को जख्मी कर दिया है। जख्मियों में पम्मी व पान कुमारी की हालत नाजूक है। जिन्हें रेफर कर दिया गया है। अनुमंडलीय अस्पताल के डाक्टर आरके श्रीवास्तव ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि छोटी बच्ची गंभीर रूप से जख्मी है। इधर सघन आबादी वाले डुमरांव में अचानक से जंगली सुअर के आने से लोगों में खौफ पैदा हो गया है।

add