छाती पर कलश लिए रीना राज

बक्सर खबर : मां दुर्गा के साधकों का कोई जोड़ नहीं है। इस वर्ष बीस वर्ष की रीना ने दस दिन तक छाती पर कलश स्थापित करने का कठिन व्रत रखा है। नगर के कोइरपुरवा इलाके की रहने वाली बीस वर्षीय कन्या की तपस्या का यह दूसरा वर्ष है। मेन रोड स्थित सत्यदेव गंज के पंडाल में इसका व्रत शनिवार को प्रारंभ हुआ। उसके पिता राजेश्वर सिंह व परिजनों के अनुसार यह उसका दूसरा साल है। नौ वर्ष की उम्र से यह बच्ची नौरात्रि का व्रत करती चली आ रही है। पिछले वर्ष भी उसने यह कठिन व्रत किया था। पिछली दफा यह यह व्रत नौ दिनों का था। इस वर्ष इसकी अवधि दस दिनों की है। जिसकी वजह से इस वर्ष तपस्या और कठिन होगी। कन्या के इस स्वरुप को देखने के लिए पहले दिन से ही इस पूजा पंडाल पर लोगों की भीड़ जुटने लगी है।

विज्ञापन
विज्ञापन