बक्सर खबर। यूपीए का भारत बंद सोमवार को प्रभावी रहा सुबह तक तो सबकुछ सामान्य रहा। लेकिन नौ बजने के साथ कांग्रेस सहित अन्य पार्टियों के नेता झंडे और डंडे के साथ सड़क पर उतरे। फिर क्या था जगह-जगह जाम प्रारंभ हो गया। प्रशासन और आमजन जाम का नजारा देख रहे थे। जिलाध्यक्ष तथागत हर्षवद्र्धन के साथ पार्टी नेताओं का धड़ा सबसे पहले माडल थाना पहुंचा।

वहां से ज्योति चौक पहुंचा तो वहां राजद, सीपीआई, शरद यादव का लोकतांत्रिक जनता दल एवं कई पार्टियां इसमें शामिल हुई। वहां का से कारवां स्टेशन पहुंचा। जहां लगभग आधे घंटे तक रेल परिचालन को ठप किया गया। वहां से लौटने के बाद सभी दल के लोग अलग-अलग टोली बनाकर शहर में नगर भ्रमण को निकल गए।
सिंडिकेट पर सत्येन्द्र ओझा ने किया प्रदर्शन
बक्सर खबर। बाइपास रोड़ से होकर जाने वाले वाहनों को सिंडिकेट पर कांग्रेस के पूर्व लोकसभा अध्यक्ष सत्येन्द्र ओझा  के गुट ने रोका। सभी केन्द्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे। इनके हाथों में तरह-तरह की तख्तियां थी। जिन पर नारे लिखे थे। सरकार की असफलताओं को गिनाते स्लोगन व नारों से पूरा शहर गुंजायमान रहा।
राजद का दिखा दम
बक्सर खबर । भारत बंद को राजद ने अपना पूर्ण समर्थन दिया। पार्टी के जिलाध्यक्ष शेषनाथ यादव, लाल बाबू यादव के अलावा सभी छोटे-बड़े नेता शहर की सड़कों पर बढ़ी कीमतें वापस लो के नारे लगा रहे थे। ज्योति चौक के पास पार्टी नेताओं का भारी जमावड़ा रहा। इसके साथ ही लाल झंडे वाले लोग भी कदम से कदम मिलाकर उनके साथ चल रहे थे। ज्योति चौक के पास पूर्व सांसद तेज नरायण सिंह, अख्तर आह्वान आदि नेता दिखाई दिए।

विधायक भी बैठे सड़क पर
बक्सर खबर। सोमवार की भारत बंदी में सदर विधायक संजय तिवारी भी जोश के साथ नजर आए। सड़क पर कार्यकर्ताओं का उत्साह बढ़ाने के लिए वे सड़क जाम कर बैठ गए। उनके साथ युवा के प्रदेश सचिव विभोर द्विवेदी, युवा अध्यक्ष पंकज उपाध्याय, उमा पांडेय आदि पार्टी नेता और कार्यकर्ता थे। केन्द्र सरकार के खिलाफ हुए इस प्रदर्शन में पार्टी ने यह साबित किया भारत बंद सफल है।

Comment