बक्सर खबर: बोलेरों के दिलाने के नाम पर डेढ़ लाख की ठगी का मामला प्रकाश में आया है। जिसको लेकर नावानगर थाना क्षेत्र के स्थानीय गांव निवासी हंसराम पिता स्वगीय सुदर्शन राम ने भोजपुर ओपी में मामला दर्ज कराया है। हंस ने बताया कि मैं एक शिक्षक हूं और वर्ष 2017 में मुझे एक बोलेरों खरीदनी का मन बना। जिसके बाद मैं महिन्द्रा एण्ड महिन्द्रा ऐजेंसी पड़री गया। वहां प्रताप सागर मेथोडिस्ट अस्पताल कालोनी निवासी अमित कुमार पिता जगदीश पासवान से भेंट हुई।

जिसके बाद वह बताए कि मेरा मित्र अभिषेक मिश्रा सीए है मैं उससे जरूरत की कागजात बनवा दूंगा। जिसके बाद 20 अप्रैल 2017 को अमित ने अभिषेक से मिलवाया। उस दौरान अभिषेक को नकदे 20 हजार अपना फीस व ग्यारह हजार कागजात बनाने के लिए अमित को दिया। उसके बाद अभिषेक मिश्रा ने बताया कि उसके खाते में एक लाख चालीस हजार रूपया डाल दिजिएगा। पांच दिन में गाड़ी मिल जायेगी। मैनें अगले दिन डाल दिया। उसके बाद से अबतक दौड़ा रहे है। फोन करने पर उल्टे हमे ही धमकी देते है।