-जीआरपी में हुई शिकायत, झारखंड पुलिस का जवान है पीडि़त
बक्सर खबर। आजा मंगलवार को डुमरांव स्टेशन के रिजर्वेशन काउंटर पर अजीब स्थिति पैदा हो गई। टिकट दलाली का विरोध करने पर लाइन में खड़े व्यक्ति को आरपीएफ और दलालों ने मिलकर पीटा। पीडि़त ने इसकी शिकायत रेल थाना और आरपीएफ दोनों से की है। उसका कहना था कि आरपीएफ के लोग दलालों से मिले हैं। यहां भ्रष्टाचार का बोलबाला है। हुआ कुछ यूं कि तत्काल टिकट के लिए लोग लाइन में लगे थे। लाइन तोड़ काउंटर पर पहुंचे आरपीएफ के एएसआई की हरकत का नारायण उपाध्याय ने विरोध किया। एएसआई आर ए राम तथा उसके सिपाही एसएन उपाध्याय ने उक्त यात्री तथा उसके रिश्तेदार की पिटाई शुरू कर दी। इसे देख टिकट दलाल भी दोनों पर अपना हाथ साफ करने लगे। आरपीएफ व दलालों द्वारा दोनों को बेरहमी से पीटा गया। जिसके बाद पीडि़त ने जीआरपी व आरपीएफ को इसकी शिकायत दी है। पीडि़त खुद पुलिसकर्मी है तथा झारखंड पुलिस बल में रांची में तैनात है।

पत्नी का टिकट लेने आया था पीडि़त
बक्सर खबर। पीडि़त नारायण उपाध्याय भोजपुर जिले के अगिआंव थाना क्षेत्र के अंगरा गांव का रहने वाला है। वह नया भोजपुर के अपने एक रिश्तेदार पे्रमप्रकाश पांडेय के साथ डुमरांव स्टेशन पर अपनी पत्नी निर्मला देवी के लिए तत्काल टिकट लेने आया था। उसकी पत्नी को आरा से चंड़ीगढ़ जाना था। नारायण तत्काल टिकट वाले लाइन में चौथे नंबर पर था। जैसे ही उसका नंबर आया कि साइड से आरपीएफ के एएसआई बगल से काउंटर पर पहुंच गए। टिकट लेने का प्रयास करने लगे। नारायण द्वारा एएसआई के हरकत का विरोध किया गया तथा लाइन से आने को कहा गया। इसके बाद आरपीएफ के एएसआई आर.एन.राम व सिपाही यूएन उपाध्याय द्वारा नारायण व उसके रिश्तेदार ओमप्रकाश की पिटाई शुरू कर दी गई। पीडि़त ने आरपीएफ व जीआरपी बक्सर को अपने साथ हुई घटना की जानकारी दी। हालांकि समाचार लिखे जाने तक इस संबंध में एफआईआर दर्ज नहीं हुआ था। इस संबंध में पूछे जाने पर आरपीएफ के इंस्पेक्टर महेन्द्र चैधरी ने घटना की पुष्टि करते हुए बताया कि उन्हें शिकायत मिली है। मामले की जांच कराई जाएगी तथा दोषियों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि दलालों को चिन्हित कर उन्हें सबक सिखाया जाएगा।