बक्सर खबर : कोरानसराय कस्तुरबा विद्यालय की वार्डेन व शिक्षिका आपस में भीड़ गई है। जिसके कारण शिक्षा का मंदिर अखाड़ा बन गय गया है। विवाद बुधवार की शाम ही हो गया। मौक पर पहुंची पुलिस ने समझा बूझा कर मामला शांत कराया। गुरूवार सुबह पुनः विवाद भड़क उठा। घटना की वजह से छात्राओं में भय व्याप्त है। उनकी पढ़ाई चैपट हो रही है। विवाद में कोरानसराय पुलिस को भी दो दिन से हलकान होना पड़ रहरा है। बढ़ते विवाद को देखते हुए पुलिस ने डुमरांव बीइओ विजय कुमार को सूचना दी। वहां पहुंच बीइओं ने मामले शांत कराने की कोशिश की। फिलहाल विवाद शांत है।

क्या है मामला
बक्सर : जानकारों की मानें तो विभाग द्वारा मध्य विद्यालय नुआंव की शिक्षिका सुनीता पांडेय को पिछले तीन-चार वर्षो से कस्तुरबा विद्यालय के वार्डेन रूप में प्रतिनियुक्त किया गया है। इधर कुछ दिन पूर्व मध्य विद्यालय सोवां की शिक्षिका पुष्पा कुमारी वर्मा का प्रतिनियोजन बतौर शिक्षिका कर दिया गया। प्रतिनियोजन के बाद से ही पुष्पा व सुनीता के बीच विवाद शुरू हो गया। बुधवार की शाम यह विवाद और गहरा गया तथा दोनों शिक्षिकाएं आपस में उलझ गई। वहीं छात्राओं की मानें तो दो के बीच मारपीट भी हुई थी। शिक्षिकाओं द्वारा ही इसकी सूचना कोरानसराय पुलिस को भी दी गई। पुलिस मौके पर पहुंच विवाद को सलटा चली गई।

add

गलत तरीके ये किया गया है शिक्षिका का प्रतिनियोजन
बक्सर : पन्द्रह दिन पूर्व हुए पंचायत समिति के बैठक में शिक्षिका पुष्पा देवी को गलत तरीके से कस्तुरबा विद्यालय में प्रतिनियोजन का मामला उठ चुका है। आरोप था कि बिना शिक्षा समिति के मंजूरी के उनका तबादला कैसे हुआ। बीडीओं ने जांच का आश्वासन दिया था।
डुमरांव बीईओ विजय कुमार ने बताया कि मामले की जांच के लिए एक समिति बनाई जा रही है। जांच के बाद ही दोषी पर कार्रवाई होगी।