बक्सर खबर । सड़क दुर्घटना में प्रति माह 15 से 20 लोगों की मौत, जिले में हो रही है। इतनी बड़ी संख्या में हो रही मौत को लेकर जिलाधिकारी राघवेन्द्र सिंह फिक्रमंद हैं। उन्होंने इसके लिए आज मंगलवार को सड़क सुरक्षा समिति की बैठक बुलाई। सभी संबंधित पदाधिकारियों से मंत्रणा कर लोगों को जागरुक करने और प्रशासनिक स्तर से एहतियाती कदम उठाने का निर्देश दिया। जिला जनसंपर्क कार्यालय द्वारा प्राप्त सूचना के अनुसार जिलाधिकारी इसको लेकर काफी गंभीर दिखे।

समाहरणालय स्थित सभागार में आहूत की गई बैठक को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा सड़क दुर्घटनाओं को नियंत्रित करने के लिए समन्वित प्रयास की आवश्यकता है। जिला परिवहन पदाधिकारी एवं एम वी आई को उन स्थलों की पहचान करनी चाहिए। जहां सर्वाधिक दुर्घटना हो रही हो। वैसे सभी स्थलों पर पथ निर्माण विभाग द्वारा रंबल स्ट्रिप एवं साइनेज लगवाया जाएगा। जिले में प्रत्येक शनिवार को हेलमेट, सीट बेल्ट एवं ट्रिपल सवारी की जांच सभी थानाध्यक्ष, यातायात निरीक्षक, मोटरयान निरीक्षक, प्रवर्तन अवर निरीक्षक तथा जिला परिवहन पदाधिकारी द्वारा करने का आदेश जिला पदाधिकारी महोदय ने दिया। सभी स्कूल के बसों में स्पीड गवर्नर का लगाना अब अनिवार्य होगा अन्य भारी वाहनों में भी स्पीड गवर्नर लगाए जाने का निर्देश दिया गया।

add सप्ताहिक कालम यह भी जाने के प्रायोजक

महत्वपूर्ण पथों के भीड़भाड़ एवं सड़क पार करने वाले स्थानों पर ज़ेबरा क्रॉसिंग की पेंटिंग भी करवाई जाएगी। राष्ट्रीय उच्च पथ राजपथ एवं अन्य महत्वपूर्ण पथों पर अत्याधिक दुर्घटना प्रवण क्षेत्रों के आसपास के नजदीकी अस्पताल प्राथमिक उपचार केंद्र की दूरी दूरभाष मोबाइल नंबर तथा एंबुलेंस से संबंधित सूचना का बोर्ड तथा सूचनात्मक सड़क चिन्ह का अधिष्ठापन सड़क किनारे करवाने का निर्देश कार्यपालक अभियंता पथ निर्माण विभाग को दिया गया। सड़कों पर महत्वपूर्ण स्थानों जैसे सरकारी कार्यालयों, स्कूलों, महाविद्यालयों एवं अस्पतालों आदि से पहले निर्धारित गति सीमा का बोर्ड तथा सूचनात्मक सड़क का अधिष्ठापन कराए जाने का भी निर्देश दिया गया। बैठक में जिला परिवहन पदाधिकारी, अनुमंडल पदाधिकारी बक्सर, पुलिस उपाधीक्षक मुख्यालय, बस, ट्रक एवं ऑटो संघ के प्रतिनिधि गण एवं अन्य संबंधित जिला स्तरीय पदाधिकारी गण उपस्थित थे।