बक्सर खबर। घर से दुकान गए मूनमून ठाकुर का शव सोमवार की देर रात तालाब किनारे मिला। पुलिस को रात ग्यारह बजे के लगभग यह सूचना मिली। पुलिस पहुंची तो उसकी पहचान होते देर नहीं लगी। क्योंकि वह चौगाई में ही हजामत बनाने का काम करता था। मूनमून (35) ठाकुर पुत्र बिदेश्वरी ठाकुर मुरार थाना के दंगौली गांव का निवासी था। परिवार के लोग पहुंचे तो पता चला कि सोमवार की सुबह उसका बेटा दुकान छोड़ने आया था। तब मूनमून से उससे कहा था। आज रात में घर नहीं आउंगा। एक जगह शादी में जाना है। तुम लोग सो जाना।

ऐसे में उसकी मौत कई सवाल खड़े कर रही है। तालाब किनारे शव देखकर कुछ लोग यह कह रहे थे। दुर्घटना में इसकी मौत हुई है। लेकिन, जहां उसका शव पड़ा था। वहां कोई वाहन नहीं पहुंच सकता। तब दुर्घटना की बात गलत प्रतीत होती है। हालात यह बता रहे हैं कि उसकी हत्या कहीं और कर शव वहां फेका गया है। शरीर पर हल्के जख्म के निशान हैं। ऐसा लगता है किसी ने उसे गला दबाकर मारा है। इन आशंकाओं के बीच पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए मंगलवार की सुबह सदर अस्पताल भेजा।