बक्सर खबर। बुधवार की सुबह बक्सर के डुमरांव थाना में पदस्थापित सहायक अवर निरीक्षक अवधेश कुमार चैधरी का शव सिवान जिले में मिला। पता चला उनकी हत्या की गई है। शव सीवान जिले के तक्कीपुर गांव में सड़क किनारे अद्र्धनग्न अवस्था बरामद किया गया। जिसके बाद इलाके में हडकंप मच गया। एएसआई की हत्या निर्मम तरीके से लाठी-डंडे से पीट कर व गलादबा की गई प्रतीत हो रही थी। पुलिस सूत्रों कि मानें तो एएसआई का दोनों हाथ व पैर रस्सी से बंधा हुआ मिला।

गले में पेटीकोट लिपटा था। चेहरे व सिर पर कटे का निशान था। अवधेश पिता जगरनाथ चैधरी भगवानपुर थाना क्षेत्र के सकरीबाजार निवासी थे। शव के पास से मिले आईकार्ड के आधार पर परिजनों को सूचना दी गई। हालांकि मृत व्यक्ति के शरीर पर कहीं धारदार हथियार के निशान नहीं थे। ऐसा लग रहा था कि हत्या कहीं और कर शव को वहां फेंका गया था। उनके चार पुत्र हैं। पंकज कुमार 22 वर्ष, बबलू कुमार 20 वर्ष, सोनू कुमार 18 वर्ष व विकास कुमार 15 वर्ष है। पिता की हत्या के खबर बाद से परिवार में कोहराम मचा हुआ है। पत्नी बृजा देवी की हालत खराब हो गई है। मृतक के पुत्र सोनू ने हत्या के पीछे दादा जगरनाथ चौधरी व दादी बसंती देवी का हाथ बताया। उसने कहा कि दादा दादी पिता की दूसरी शादी करना चाहते थे। जिसको लेकर एक लड़की से संपर्क कराए थे पापा उसी के साथ रहते थे। जब मां ने केस किया तो हमलोगो के साथ रहने लगे थे। अब सबकुछ ठीक चल रहा था तभी मदन चौधरी के साथ मिलकर हत्या करा दी। ज्ञात हो कि तीन माह पहले ही उन्होंने डुमरांव में योगदान किया था। यहां से चुनाव ड्यूटी के लिए दूसरे जिला गए थे। वहां मतदान समाप्त होने के बाद संभवत अपने जिला वापस लौटे थे। तभी यह घटना हुई।

Comment