बक्सार खबर। मुखिया की करतूतों से तंग आकर चौगाई वार्ड नंबर एक के महादलितों ने मंगलवार की दोपहर प्रखंड कार्यालय पर जमकर हंगामा किया। जब तक लोग कुछ समझ पाते तब तक गुस्साए लोगों ने बीडीओ के चैम्बर मे घुसकर मुखिया पर आरोपों की झड़ी लगा दी। उनका कहना था कि मुखिया ने उनसे शौचालय के लिए गड्ढा तो खुदवा दिया लेकिन शौचालय के लिए फंड नहीं जारी किया। कुल 15 गड्ढे उन सभी के लिए जी का जंजाल बन गए हैं। आए दिन उनके बच्चे और जानवर उनमें गिरकर घायल हो रहे हैं। उनकी शिकायत सुनने वाला कोई नहीं है।

हंगामा करने वालों में शामिल चाँददेव डोम ने बताया की ना तो उन लोगों के पास रहने को घर है, न पानी पीने के लिए चापाकल। मुखिया की ओर से शौचालय निर्माण के लिऐ गड्ढा खुदवाने के लिऐ कहा गया । बस्ती में 15 लोगो ने गड्ढा खोदा लेकिन आज तक उस गड्ढे को शौचालय मे परिवर्तित नही किया गया । ऐसे में उनके बच्चे इसमें गिर कर घायल हो चुके है । जानवर भी गिर चुके है । आज भी हमलोग मुख्यमंत्री जल-नल योजना,शौचालय योजना और प्रधानमंत्री आवास योजना से वंचित है। मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार हर महादलित बस्ती मे कैम्प लगाकर मूलभूत सुविधा देने का प्रावधान है । लेकिन उनकी बस्ती पूरी तरह वंचित है। बीडीओ सैयद सरफराजूद्दिन ने बताया की पीएचडी विभाग से बात करके इनलोगों के लिऐ चापाकल की व्यवस्था की जायेगी ।शौचालय इनलोगों को खुद बनवाना होगा ।
बताते चले की भूत के डर से ये लोग अपने घर को छोड़कर पाँच महीने कही गायब हो गये थे । तब तत्कालीन जिलाधिकारी तथा बीडीओ तथा एसडीओ ने कैम्प लगाकर इन सभी को ढूंढा था। हंगामा करने वालों में मुख्य रूप से उमेश डोम,गोविन्द डोम,राधिका देवी,फुलझड़ियाँ देवी,चिंता देवी आदि शामिल रहे।