अब कैसी उदासी, बक्सर बन गया काशी

1
1927

बक्सर खबर। आप खबर को पढ़कर जितने हैरान नहीं होंगे। उससे कहीं ज्यादा हैरानी इस तस्वीर को देखकर होगी। अगर आप वाराणसी जाएंगे तो आपको जगह-जगह सांड दिखेंगे। वे बड़े तथा मस्त हैं लेकिन किसी-किसी चौक पर दिखेंगे। उनकी संख्या एक दो में होती है। लेकिन अपने जिला मुख्यालय में आपको इन दिनों एक नहीं दर्जनों बछड़े दिखेंगे। जो बड़े नहीं छोटे हैं। वे आपको यह एहसास कराएंगे यह बड़ी नहीं छोटी काशी है। इस लिए वे भी छोटे हैं।

लेकिन इतनी संख्या में बछड़े कहां से आए यह बात सबको परेशान करने वाली है। ज्योति चौक से लेकर सब्जी मंडी तक इनकी अच्छी खासी संख्या शहर में देखी जा रही है। जो इनकी तरफ से लापरवाह हैं उनके लिए तो यह बक्सर के काशी होने का सुखद संकेत हो सकता है। लेकिन जो इसका कारण जानने का प्रयास करेंगे। उनके माथे पर शिकन आ सकती है। क्योंकि बछड़ों को यूं ही यहां लाकर किसी ने नहीं छोड़ा है।

1 COMMENT

  1. तो क्या है पूरी बात बताइये क्योंकि हम लोग भी तो जाने सच क्या है

Comments are closed.