बक्सर खबर। लंबे समय बाद आज बतचकुच्चन गुरू से मुलाकात हुई। देखा वह लोगों को समझा रहे थे। उनसे सवाल भी पूछ रहे थे। उनका सुनने के लिए मैं किनारे खड़ा हो गया। वे बोले जा रहे थे। 370 कश्मीर से हटा है। बिलबिला पाकिस्तान रहा है। तबो आप सब के नहीं बूझा रहा है। धारा हटा तो फायदा केकर हुआ। नुकसान केकर हुआ। ए बात का समीक्षा होवे चाही। लेकिन, यहां एक बात समझे वाली हौ। पड़ोसियां काहे चिल्ला रहा है।

ओकर परेशानी बता रही है। कवनो बड़ा झोल है। जरुर वहां जौन उठा पटक होवे है। ओमन ओकर हाथ है। अप्पन देश के लोग हमेशा से कहते आवे हैं। आखिर कितने लोग उहां शहीद होंगे। समस्या के निदान होवे की चाही। अब निदान शुरू हुआ तो कुछ लोगन के तकलिफ होवे है। एतना दिन से उहां ड्रामा चलिए रहा था। अब हट गया तो कुछ लोग नाहक चिल्ला रहे हैं। जो चिल्ला रहे हैं। उनसे कोई पूछे। जोड़-घटाव आता है। नहीं आता है। तो काहे राकेट उड़ा रहे हो। औकात तो कछू समाज और मुहल्ला के अच्छा देवे बदे ना है। चले हैं देश को समझावे। बतकुच्चन गुरू एक-एक से पूछ रहे थे। जो देश को कमजोर करे। उ मनई सब के समर्थन ना होवे चाही। (माउथ मीडिया एक साप्ताहिक व्यंग कालम है। जो सप्ताह में शुक्रवार को प्रकाशित होता है)

Comment