पुलिस हिरासत में हत्यारोपी, जानकारी देते ड़ुमरांव डीएसपी

बक्सर खबर। शादी-शुदा महिला के चक्कर में फंसे व्यक्ति ने अपने रिश्ते की परवाह भी नहीं की। प्रेमिका के पति को अपने साथ खिलाने-पिलाने के नाम पर उत्तर प्रदेश ले गया। वहां से लौटने के क्रम में गला दबाकर उसकी हत्या कर दी। शव को ठिकाने लगाने का ऐसा तरीका इस्तेमाल किया कि पुलिस भी उसे ढूढ नहीं पाई। हत्या के 22 दिन पर आरोपी पकड़ा गया तो उसने बताया। शव को पुल से गंगा में फेक दिया। जिसके कारण उसका पता नहीं चला। सुनील पासवान (44) पुत्र राजेन्द्र पासवान की हत्या के आरोप में आज पुलिस ने सत्येन्द्र पासवान को जेल भेज दिया।

इसकी जानकारी देते हुए डुमरांव डीएसपी केके सिंह ने बताया घटना 12 सितम्बर की है। सुनील पासवान ग्राम कमधरपुर, थाना कोरानसराय का निवासी था। उसके पिता ने 3 अक्टूबर को थाने में शिकायत दर्ज कराई। उसका बेटा लापता है। पूछने पर उसने शक जताया कि सत्येन्द्र पासवान ग्राम ओझाबरांव थाना मुरार ने उसे गायब किया है। जांच शुरू हुई तो पता चला सुनील की पत्नी फूलवंती के साथ उसके नाजायज रिश्ते थे। हालाकि वह रिश्ते का भाई लगता था। 12 सितम्बर को वहीं अपने साथ सुनील को ले गया था। लोजपा पार्टी का कोई कार्यक्रम था। पुलिस ने सत्येन्द्र को दबोचा और अपने तरीके से पूछताछ शुरू की। दो दिन में पूरी सच्चाई सामने आ गई। पूरा घटना क्रम उसने बताया, कैसे हत्या हुई और शव को गंगा में फेक दिया। पूछताछ में यह भी पता चला है फूलवंती चार बच्चों की मां है और हत्यारोपी सत्येन्द्र तीन बच्चों का पिता है। बावजूद इन लोगों ने ऐसी हरकत की। पुलिस ने दोनों को आज शुक्रवार के दिन जेल भेज दिया।