बक्सर खबर। गैधरा गांव के जीन दो युवकों की हत्या हुई है। वह लूट का प्रयास थी या हत्या की साजिश। यह स्पष्ट नहीं हो पा रहा है। परिवार वाले लोग यह बता रहे हैं कि युवकों की कोई अदावत नहीं थी। वहीं दूसरी तरफ सीएसपी संचालक कृष्णानंद पाठक और शिक्षक सुशील पाठक द्वारा बैंक से निकाले गए रुपये उनके पास से बरामद हो गए हैं। ऐसी स्थिति में पुलिस इस नतीजे पर नहीं पहुंच पा रही है कि यह लूट का प्रयास था या कुछ और। घटना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस को शिक्षक सुशील पाठक का मोबाइल फोन नहीं मिला था। उसको लेकर उहापोह की स्थिति बनी थी।

आज रविवार को पता चला है कि उनके ही परिवार के किसी सदस्य ने फोन अपने पास रखा था। घटना स्थल पर पुलिस के पहुंचने से पहले ही परिवार के सदस्य ने रुपये, डायरी और फोन सुरक्षा के लिहाज से उठा लिया था। अब वह सब मिल गए हैं। इस वजह से लूट की बात पुलिस को अटपटी लग रही है। पूछने पर पुलिस ने बताया कि इन दोनों को अपराधियों ने पांच गोली मारी है। शिक्षक को सर में दो एवं सीने में एक तथा सीएसपी संचालक एक गोली सर तथा दूसरी गोली सीने में लगी है।एसडीओ केके उपाध्याय ने इस संबंध में बताया कि शिक्षक के परिवार को चार लाख रुपये का मुआवजा शिक्षा विभाग से मिलेगा। अगर उनकी पत्नी स्नातक पास हो और उन्होंने बीएड व टेट किया हो तो उन्हें नौकरी मिल सकती है। लेकिन शायद शिक्षक सुशील की पत्नी गृहणी हैं। इस लिए शायद उन्हें अनुकंपा का लाभ नहीं मिल पाए। सीएसपी संचालक कृष्णानंद पाठक को भी पीएनबी से मुआवजा दिलाने की बात चल रही है। उनकी पत्नी गायत्री सुक्रवलिया गांव में शिक्षका हैं।