बक्सर खबर। रामरेखा घाट में स्थित रामेश्वर मंदिर के पवित्र प्रांगण में आज से लक्ष्मी-नारायण महायज्ञ का शुभारंभ हुआ। वैदिक मान्यता नुसार यज्ञ से एक दिन पूर्व आज जलभरी का कार्यक्रम हुआ। सुबह सात बजे से सैकड़ों की संख्या में नर-नारी कलश लेकर नगर भ्रमण करते हुए यज्ञ स्थल पहुंचे। यज्ञ समिति के सदस्य और इस यज्ञ के प्रेरणा स्त्रोत कृष्णानंद जी पौराणिक उपाख्य शा़स्त्री जी श्रद्धालुओं के साथ नगर परिक्रमा में शामिल हुए।

शोभा यात्रा में शामिल शास्त्री जी एवं अन्य श्रद्धालु

वैदिक मंत्रोचार व शुभ्र वस्त्र में लोग जल भरकर यज्ञ स्थल पहुंचे। वैसे यज्ञ शाला में अरणी मंथन का कार्य सोमवार को प्रारंभ होगा। इसका समापन 23 को होना है। इस तिथि के मध्य प्रतिदिन अपराह्न तीन बजे से श्री वराह पुराण की कथा होगी। सायं सात बजे आरती के साथ कथा का विश्राम होगा। यह क्रम लगातार चलेगा। इस मौके पर पंडित छविनाथ त्रिपाठी, अरुण मिश्रा व उनके अनुज, भाजपा नेता प्रदीप दुबे, समेत बड़ी संख्या में श्रदृधालू शामिल हुए।