बक्सर खबर। खबर मशालेदार नहीं पर गंभीर है। गोलंबर पर अक्सर पानी जमा होता है। जिससे जोशो रोड के सामने हमेशा गड्ढ़े बन जाते हैं। यहां अब नाला लगाया जाएगा। लेकिन जो नाला लगाया जा रहा है। वह मानक के अनुरुप नहीं है। इसके उपर से भारी वाहन गुजरने हैं। वैसे में यह कब साथ छोड़ेगा। कहा नहीं जा सकता। अगर कुछ दिन चल भी गया तो उसे खराब होने में देर नहीं लगेगी।

क्योंकि कमजोर क्वालिटी का नाला कब तक चलेगा। यह कोई नहीं बता सकता। यह तस्वीर आपके सामने है। जिसमें नाले की हालत आप देख सकते हैं। पथ निर्माण विभाग ऐसे मामलो में उन्हीं नालों को लगाने की अनुमति देता है। जिनका निर्माण मानक के अनुरुप हो। नाले की मोटाई, चौड़ाई, बनाने वाली कंपनी का नाम आदि सब अंकित हो। लेकिन, मानक तो दूर यहां जो नाले रखे गए हैं। उसकी क्वालिटी बहुत ही निम्न स्तर की है। ऐसे में जिम्मेवार पदाधिकारियों को चाहिए कि इसका अवलोकन करें। अन्यथा भ्रष्टाचार इन कमजोर नालों के साथ और मजबूत होगा। अन्यथा ऐसे मामलों में आमजन की धारणा है। कमीशन खाने वाले अधिकारी भ्रष्टाचार पर रोक नहीं लगाते। ऐसी भ्रांति को और बल मिलेगा।

Comment