बक्सर खबर। खबर है कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने जैश-ए-मुहम्मद के सरगना मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित कर दिया है। समाचार एजेंसियों के हवाले से जारी सूचना के अनुसार उसके खिलाफ सुरक्षा परिषद के चार सदस्यों ने पाबंदी का प्रस्ताव रखा था। जिसमें फ्रांस, ब्रिटेन, अमेरिका प्रस्ताव पेश किया था। लेकिन, परिषद के पांचवे सदस्य चीन ने अपने वीटो के अधिकार का लगाकर उसपर रोक लगा दी थी।

ऐसा नियम है कि सभी पांच स्थायी सदस्य देशों की संयुक्त सहमति से ही यह प्रस्ताव पारित हो सकता है। चीन ने अपना वीटो वापस लिया तो आज मसूद अजहर वैश्विक आतंकी घोषित हो गया। अब विश्व में उसके कहीं भी आने जाने, किसी तरह का हथियार रखने एवं संपति को जब्त करने का अधिकार सभी सरकारों के पास होगा। नियमों के अनुरुप उसे कोई भी वित्तीय सहायता प्रदान नहीं कर सकता। सुरक्षा परिषद का यह आदेश आने के बाद इसे भारत सरकार की कूटनीतिक जीत बताया जा रहा है।