बक्सर खबर। डुमरांव डीके कालेज परिसर में आज दो दिवसीय राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन किया गया। जिले में पहली बार किसी कालेज द्वारा इस विषय पर ऐसा भव्य कार्यक्रम आयोजित किया गया है। इसका शुभारंभ रांची उच्च न्यायालय के न्यायाधीश डा.शिवानंद पाठक एवं दिल्ली आईआईटी के डा. इम्तियाज आलम और वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय के कुलपति डा. देवी प्रसाद तिवारी ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्जवलित कर किया।


इस मौके पर पूर्व कुलपति धर्मेन्द्र तिवारी, नाबार्ड के सहायक प्रबंधक आदित्य कुमार सिंह, व्यवहार न्यायालय के सबजज एक कैलाश जोशी, सब-जज दो बी.के.सिंह, मुसिंफ मो. अफजल, डा.बैजनाथ सिंह, डा. के.एम. श्रीवास्तव, डा.एस.एन.सिंह, एम भी कालेज के प्राचार्य, शमशेर पाठक, सुमित्रा महिला कालेज की प्राचार्य डा. शोभा सिंह, प्रो.नंद जी दुबे, एचडी जैन कालेज के प्राचार्य, प्रो.राजू मोची, प्रो.श्यामनारायण राय, कार्यपालक दण्डाधिकारी कन्हैया प्रसाद, ब्रहपुर थानाध्यक्ष डी एन तिवारी, मनोज कुमार सिंह, विकास कुमार सिंह, ब्रजेश प्रसाद,लोजपा के नेंता सीताराम सिंह, भाजपा नेंता शंभूनाथ पाण्डेय, अजीत कुमार सिंह, आराधना सिन्हा, रोहित पाठक, विद्यार्थी परिषद के संटु मित्रा, दीपक यादव एवं रेवती रमण मिश्रा आदि मौजूद थे। सभा कक्ष में आयोजित सेमिनार की शुरूआत सुमित्रा महिला कालेज की छात्राओ द्वारा प्रस्तुत सरस्वती वंदना से हुई। आंगतुक अतिथियों का स्वागत प्राचार्य डा.धीरेन्द्र कुमार सिंह एवं आईक्यूएसी सेल के समन्वयक अरबाज खां
ने स्मृति चिह् एवं अंगवस्त्र भेंट कर किया। कार्यक्रम का संचालन प्रो.कामता प्रसाद सिन्हा ने अपने अनूठे अंदाज में किया। सेमिनार के प्रथम सत्र के समापन पर धन्यवाद ज्ञापन डा.उषा रानी ने किया। इसके पूर्व न्यायाधीश डा.पाठक ने कुलपति संग महाविद्यालय परिसर में पौधारोपण किया। मुख्य अतिथि के रूप में पहली बार पंहुचे न्यायाधीश सहित कुलपति को सुमित्रा महिला महाविद्यालय की एनसीसी छात्राओ ने सशस्त्र गॉड आफ आनर प्रदान किया। इस कार्यक्रम को लेकर डी.के.कालेज के परिसर में सामान्य लोगो की भीड़ भी उमड़ी रही। यह कार्यक्रम गुरुवार को भी चलेगा।