-बक्सर को मेडिकल कॉलेज और जिला अस्तपाल को टेलीमेडिसिन के जरिए एम्स से जोड़ा गया
बक्सर खबर। भाजपा उम्मीदवार अश्विनी चौबे ने आज राजपुर विधानसभा क्षेत्र के विभिन्न गांवों को दौरा किया। चुनाव कार्यक्रमों के दौरान कई जगह लोगों ने यह चर्चा की। एम्स को भागलपुर ले जाया गया। उन्होंने इसका जवाब देते हुए कहा। मैंने बक्सर के विकास के लिए काम किया है। भागलपुर में एम्स बनाने की बात पूरी तरह अफवाह है। एम्स वहीं बनता है। जहां पहले से मेडीकल कालेज हो। इतना ही नहीं इसके लिए जमीन का बंदोस्त राज्य सरकार करती है। वहीं से प्रस्ताव भी जाता है। बिहार सरकार ने भागलपुर नहीं दरभंगा के लिए प्रस्ताव दिया था। फिर इस तरह की अफवाह का क्या मतलब है।

नियमों के अनुसार एक एम्स दूसरे एम्स से 200 किलोमीटर की दूर पर ही बनाया जा सकता है। जबकि यहां तो पटना में एम्स बन चुका है। अभी भी उसका विस्तार हो रहा है। वह कोई एक दिन की प्रकिया नहीं। विपक्ष चाहे जो अफवाह फैलाए। मैंने अपने सेवा काल में पूरे बक्सर लोकसभा क्षेत्र के लिए कार्य किया है। यहां के सदर अस्पताल को टेलीमेडीसिन से जोड़ा। डुमरांव में मेडीकल कालेज मंजूर हुआ। सभी विधानसभा क्षेत्र में एक-एक एंबुलेंस दी गई। निवर्तमान सांसद व स्वास्थ्य राज्य मंत्री ने कहा मैंने हकमारी नहीं की। जन संपर्क अभियान के दौरान वे बिझौरा, कुकुढ़ा, चिलहर, विरना, सिसराढ़, पिपराढ़, हेठुआ, ननौरा, भलुहां, भरखरा आदि गांवों में पहुंचे।