बक्सर खबर। किला मैदान में लगे स्वास्थ्य महाकुंभ के समापन कार्यक्रम में आज प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन शामिल हुए। उन्होंने कहा स्वास्थ्य के प्रति संवेदनशीलता बहुत जरूरी है। स्वास्थ्य ठीक होगा तभी हम कुछ बेहतर कर सकते हैं। इस तरह की महाकुंभ की आवश्यकता है। आज देश और प्रदेश में तेजी से विकास के कार्य हो रहे हैं। उन्होंने बक्सर में आयोजित स्वास्थ्य शिविर के आयोजन के लिए केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री अश्विनी चौबे की प्रशंसा की। वे बतौर मुख्य अतिथि आज हेलीकाप्टर से अपराह्न तीन बजे पहुंचे थे। यहां से पुन: सवा चार वापस लौट गए।


रामकृपाल यादव ने स्वास्थ्य मेले को सराहा
बक्सर खबर। स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता के लिए महाकुंभ एक सराहनीय प्रयास है। यह बातें आज शनिवार को केन्द्रीय ग्रामीण विकास राच्यमंत्री राम कृपाल यादव ने कहीं। स्वास्थ्य के प्रति संवेदनशीलता के साथ जागरूकता लाने के लिए महाकुंभ का प्रयास अत्यंत सराहनीय है। उन्होंने वृहत पैमाने पर महाकुंभ लगाए जाने के लिए स्थानीय सांसद केंद्रीय राच्य मंत्री अश्विनी चौबे को बधाई दी। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार हर क्षेत्र में सबका साथ सबका विकास के उद्देश्य के साथ आगे बढ़ रही है।
जन सेवा में हो तन का सदुपयोग : अश्विनी चौबे
बक्सर खबर। स्थानीय सांसद सह केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राच्य मंत्री अश्विनी चौबे ने कहा कि यह मानव शरीर एक न एक दिन पंचतत्व में विलीन हो जाएगा। शरीर का सदुपयोग होना चाहिए। जन कल्याण के लिए हमेशा तत्पर रहने की जरूरत है। लेकिन यह तभी संभव है जब हम अपने शरीर को स्वस्थ रखेंगे। बेहतर स्वास्थ्य बढ़कर कुछ भी नहीं। निरोगी काया ही सबसे बड़ा सुख है। आयुष्मान भारत जैसी योजना से देश में स्वास्थ्य के क्षेत्र में एक नई क्रांति का उदय हुआ है। अब आर्थिक रूप से पिछड़े परिवार के लोगों को अपने परिजनों के इलाज के लिए जमीन, जायदाद, गहना नहीं बेचना पड़ रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में स्वास्थ्य के क्षेत्र में बड़ा बदलाव हुआ है। इसका प्रभाव पूरे देश में देखा जा रहा है।
दस हजार लोगों ने उठाया लाभ
बक्सर खबर। स्वास्थ्य महाकुंभ में बड़ी संख्या में लोग किला मैदान पहुंचे। दो दिवसीय शविर में लगभग दस हजार लोगों ने स्वास्थ्य जांच मेले का लाभ उठाया। इस दौरान भीड़ से डाक्टर और मरीज परेशान हुए। लेकिन, इस पहल से जिन लोगों को लाभ मिला। वे इसे जरुर याद रखेंगे। चिकित्सकों ने बताया दिल्ली, वाराणसी, मुंबई, कोलकाता, मैसूर, बेंगलुरु, लंदन डॉक्टर आए हुए थे। सभी ने चिकित्सीय परामर्श के साथ-साथ इलाज के लिए भी निरंतर संपर्क में रहेंगे। उन्हें महत्वपूर्ण परामर्श देते रहेंगे।
चित्रकला भाषण प्रतियोगिता में बच्चों ने लिया हिस्सा
बक्सर खबर। स्वास्थ्य शिविर के दौरान बच्चों की भाषण और चित्रकला प्रतियोगिता आयोजित थी। इसमें जिन छात्र-छात्राओं ने बेहतर प्रदर्शन किया। उन्हें राज्यपाल के हाथों सम्मानपत्र सौंपा गया। उन छात्रों के लिए यह एक यादगार मौका रहा। आयोजन समिति के अनुसार लगभग 200 से अधिक बच्चे शामिल हुए थे। बेहतर करने वालों को पुरस्कार प्रदान किया गया।