बक्सर खबर। भारत वर्ष के महान सन्यासी संत पूज्य त्रिदण्डी स्वामी जी महाराज की पुण्यतिथि रविवार को मनाई गई। अगहन मास के कृष्णपक्ष की दशमीं तिथि को उन्होंने बक्सर धाम में समाधी ली थी। यह तिथि पंचकोश मेले के समापन के ठिक एक दिन बाद आती है। चरित्रवन में लक्ष्मी-नारायण मंदिर के पास ही उनकी समाधी है। इस पावन अवसर पर देश भर से उनके द्वारा दीक्षा प्राप्त संत व सन्यासी यहां पहुंचते हैं।

यहां छह दिनों का लक्ष्मी-नारायण महायज्ञ भी होता है। यज्ञ का समापन भी आज रविवार को हुआ। इस अवसर पर उनके शिष्य लक्ष्मीप्रपन्न जीयर स्वामी जी महाराज भी उपस्थित रहे। इस वजह से पूरे छह दिनों तक वैष्णव धर्मावलंबियों का यहां आना-जाना लगा रहा। अपने गुरु की पूजा में उनके साथ अन्य महात्मा भी शामिल हुए।

add विज्ञापन

Comment