बक्सर खबर। गंगा नदी में नहाने के दौरान शुक्रवार को चार युवक डूबने लगे। उनमें से तीन को नाविकों ने बचा लिया। एक युवक उन्हें नहीं मिला। यह घटना शुक्रवार की है। बयासी घाट पर डूबे अमित सिंह उर्फ छोटे (18) पुत्र संतोष सिंह का अब तक पता नहीं चला है। घटना को हुए चौबीस घंटे होने को हैं। लेकिन अभी तक प्रशासनिक मदद नहीं मिलने से लोगों में आक्रोश है। ग्रामीण सूत्रों ने बताया कि अमित सिमरी थाना के लहना गांव का निवासी था। उसके परिवार के कुछ सदस्य शुक्रवार को मुंडन संस्कार के लिए सिमरी के बयासी घाट पहुंचे थे।

दो नाव पर सवार लोग रस्म अदा कर रहे थे। वापसी के दौरान चार युवक नहाने के लिए नदी में उतरे। लेकिन उन्हें पानी का अंदाजा नहीं था। वे भी डूबने लगे। नाविकों ने देखा तो उन्हें बचाने दौड़े। तीन तो बचा लिए गए। लेकिन अमित का कहीं पता नहीं चला। वहीं रोना-धोना शुरू हो गया। परिजनों से सिमरी थाने और प्रखंड प्रशासन से मदद मांगी। उन्हें सीओ का नंबर मिला। उन्होंने कहा अगले दिन सुबह नौ बजे तलाश शुरू होगी। लेकिन आज शनिवार को जब परिवार के लोगों ने उनसे संपर्क किया तो उनका फोन बंद मिला। हादसे की स्थिति में प्रशासन की यह उदासिनता सिस्टम की बदहाली का गवाह है। खबर लिखे जाने तक युवक की तलाश का काम शुरू नहीं हो पाया है।