बक्सर खबर : सिमरी में मारे गए युवक लक्ष्मण राम की हत्या छह लोगों ने मिलकर की है। उसके पिता हरिद्वार राम के बयान पर छह लोगों के खिलाफ प्राथमिकी हुई है। जिसमें चार नामजद तथा दो अज्ञात लोग शामिल हैं। उनके अनुसार हत्या की साजिश चार दिन पहले ही रची गई थी। लक्ष्मण ने चार दिन पहले बताया था। खेत की रखवाली करते हुए उसने चार-पांच लोगों को देखा था। जो चार दिन पहले ही उसकी हत्या के फिराक में वहां पहुंचे थे।

इसी बीच उसकी नींद टूट गई। उसने टार्च जलाया तो वे सभी वहां से निकल भागे। चार नामजद में फिलहाल पुलिस ने एक अभियुक्त हरिशंकर यादव का नाम जाहिर किया है। अन्य का नाम गोपनीय रखा गया है। जिससे उनकी गिरफ्तारी में आसानी हो।
कहां से जुड़े हैं हत्या के तार
बक्सर : ग्रामीण सूत्रों के अनुसार हत्या के पीछे पुरानी रंजिश जुड़ी है। बहुत दिनों गांव में ही ओमप्रकाश यादव की हत्या हुई थी। उसी घटना में कुछ लोगों जेल गए थे। जब वे छूट कर आए तो उन्हीं लोगों ने लक्ष्मण की हत्या की साजिश रची। हालाकि पुलिस जांच में जुट गई है। जल्द ही कलई खुल जाएगी।