शादी के समय ली गई प्रीति व उत्तम की तस्वीर

बक्सर खबर। मुजफ्फरपुर में अपने ससुराल वालों के साथ रह रही प्रीति की हत्या उसके पति और अन्य लोगों ने मिलकर कर दी। उसकी शादी इसी वर्ष फरवरी माह में जिले के मुफस्सिल थाना अंतर्गत कठघरवां निवासी उत्तम ओझा ने हुई थी। लड़की राजपुर थाना के भरखरा गांव की निवासी थी। शादी के बाद से ही ससुराल पक्ष के सभी लोग मुजफ्फरपुर में घर बनाकर रहते थे। पति के साथ लड़की भी वहीं चली गई। इस बीच 26 अगस्त की शाम पांच बजे उत्तम के भतीजे मनीष ने फोन से लड़की के भाई को सूचना दी। उसकी तबीयत बहुत ज्यादा खराब है। बक्सर से मायके वाले किराए की गाड़ी लेकर 26 की रात ही मुजफ्फरपुर के कोल्हुआ-पैगम्बरपुर पहुंचे। लेकिन वे परिवार वालों का जवाब सुन दंग रह गए।

उन्हें बताया गया मृत्यु हो गई थी। उसका दाह संस्कार कर दिया गया। मायके वालों ने पूछा उसे क्या हुआ था, किस डाक्टर को दिखाया। हम लोग आ ही रहे थे तो भी रातो-रात ऐसा क्यूं किया आप लोगों ने। लेकिन जवाब देने के बजाय वे अभद्र बर्ताव करने लगे। वहां से प्रीति और अन्य परिजन पास के अहियापुर थाना पहुंचे। प्रीति के भाई ने मनंजय उपाध्याय ने ससुर, बहनोई उत्तम कुमार ओझा, भसुर सूरज ओझा के खिलाफ दहेज हत्या की प्राथमिकी दर्ज कराई। शिकायत में कहा गया है पूर्व से वे मकान बनाने के नाम पर पांच लाख रुपये की मांग कर रहे थे। हमें शक है कि उसकी हत्या कर शव को गायब कर दिया गया है। अहियापुर के थानाध्यक्ष भगवान झा ने मीडिया को बताया कि आरोपी का परिवार फरार है। मामले की जांच हो रही है।