बक्सर खबर। देश की पहली लोकसभा के सदस्य रहे डुमरांव महराजा ने आज 17 वीं लोकसभा के लिए मतदान किया। उनकी आयु अब 93 वर्ष की होने वाली है। पिछले लंबे समय से वे अस्वस्थ हैं। इस वजह से ऐसी अटकलें लगाई जा रहीं थी कि वे शायद इस बार मतदान नहीं कर सकें। लेकिन, अपराह्न चार बजे के लगभग उन्होंने अपने पुत्र मानविजय सिंह से मतदान करने की इच्छा जाहिर की।

फिर उन्हें ह्वील चेयर की मदद से नया भोजपुर के बूथ संख्या 29 पर ले जाया गया। जहां उन्होंने मतदान कर्मियों के सहयोग से मतदान किया। पाठक यह जान लें कि महाराजा कमल बहादुर सिंह देश आजाद होने के बाद 1952 में पहली दफा सांसद बने थे। वे दूसरी लोकसभा के भी सदस्य रहे। 2014 के लोकसभा एवं 2015 के विधानसभा चुनाव में भी उन्होंने मतदान किया था। लेकिन इस बार अनिश्चितता बनी हुई थी।
जिला निर्वाचन अधिकारी के अनुसार 56.6 प्रतिशत लोगों ने किया मतदान
बक्सर खबर। जिला निर्वाचन अधिकारी राघवेन्द्र सिंह के अनुसार जिले में 56.6 प्रतिशत लोगों ने मतदान किया है। हालाकि रामगढ़ और दिनारा विधानसभा के स्पष्ट आंकड़े प्राप्त नहीं हो पाए हैं। इस लिए प्रतिशत का आंकड़ा बढ़ सकता है। निर्वाचन अधिकारी के अनुसार सभी बूथों पर शांति पूर्ण मतदान संपन्न हो गया। कुछ मारपीट की कुछ छिटपुट वारदातें सामने आयी हैं। लेकिन, उन जगहों पर भी मतदान प्रकिया पूरी करा ली गई। उन्होंने बताया कि जिले में कुल पांच जगह से मतदान बहिष्कार की सूचना है। बक्सर विधानसभा के चार एवं राजपुर विधानसभा के एक बूथ पर वोट नहीं पड़ा। मतदान प्रारंभ होने के बाद छह जगह ईवीएम व बैलेट यूनिट तथा 16 जगह वीवी पैट को बदलना पड़ा। कुल मिलाकर मतदान शांति पूर्ण ढंग से संपन्न हो गया।