बक्सर खबर। फिल्म की दुनिया में जिले के एक और होनहार शख्स ने अपना नाम शिखर तक पहुंचाया है। यह व्यक्ति किसान परिवार से है। इनका नाम विजय यादव है। 29 सितम्बर को इन्हें आल इंडिया प्रोड्युसर ऐसोसिएशन के एक्सक्यूटिव कमेटी का सदस्य चुना गया। इसकी जानकारी उन्होंने बक्सर खबर को दी। विजय यादव कहीं और के नहीं अपने ही जिले के सिमरी प्रखंड अंतर्गत बड़का राजपुर गांव के हैं।

गांव से पढ़कर निकले विजय यादव का फिल्मी जीवन बक्सर से ही शुरू हुआ। दो लोगों ने मिलकर पहली फिल्म बनाई चल सखी दुल्हा देखे। उस समय वे पटकथा लेखन का काम भी करते थे। उस फिल्म ने उन्हें पहचान दिलाई और वे मुंबई चले गए। आइए बक्सर खबर के साप्ताहिक कालम इनसे मिलिए में डालते हैं उनके जीवन पर एक नजर –

सदस्य चुने जाने पर बधाई देते प्रोड्यूसर एसोसिएशन के सदस्य

विजय यादव का फिल्मी जीवन
बक्सर खबर। विजय यादव अब फिल्मी दुनिया में वह नाम है। जिसे भोजपुरी जगत के सभी अभिनेता पहचानते हैं। अरविंद श्रीवास्तव के साथ मिलकर उन्होंने 1994 में चली सखी दुल्हा देखे फिल्म बनाई थी। जो काफी मशहूर रही। हाल ही में कामयाब फिल्म रही जिगर की कहानी भी इन्होंने ने ही लिखी है। जिसमें दिनेश लाल यादव की मुख्य भूमिका थी। पिछले वर्ष सुदीप पांडेय को लेकर जिना सिर्फ तेरे लिए फिल्म बनाई थी।

पहली सफल फिल्म का पोस्टर

व्यक्तिगत जीवन
बक्सर खबर। विजय यादव का जन्म 7 जनवरी 1969 को सिमरी प्रखंड के बड़का राजपुर गांव में हुआ। पिता सीयाराम यादव के वे ज्येष्ठ पुत्र थे। गांव से पढ़कर निकले तो एमपी हाई स्कूल और फिर एमवी कालेज से बीएससी की डिग्री ली। इनके छोटे भाई राकेज कुमार गांव में शिक्षक हैं। तीन बहने हैं जिनमें एक शिक्षक हैं।
सदस्य चुने जाने पर बधाई देते प्रोड्यूसर एसोसिएशन के सदस्य
पहली सफल फिल्म का पोस्टर