बक्सर खबर। आपको पता ही होगा आदर्श आचार संहिता लागू है। ऐसे में कहीं भी आपकी तलाशी प्रशासन की टीम ले सकती है। अगर आपके पास 50 हजार रुपये अथवा उससे अधिक की राशि है तो सचेत रहें। उसे लेकर सफर करना महंगा साबित हो सकता है। खासकर वैसे लोगों के लिए जो राजनीतिक संबंध रखते हैं। प्रशासन आपकी राशि जब्त कर सकता है। अगर आपके पास पर्याप्त साक्ष्य है। वे रुपये आपके हैं अथवा आपके पास किसी तरह का प्रमाण है। उस आधार पर आपकी राशि जब्त नहीं होगी। शुक्रवार को जिलानिर्वाचन अधिकारी राघवेन्द्र सिंह ने इसके लिए अधिकारियों की आवश्यक बैठक की।

जिसमें कहा सभी मार्गों पर विशेष नजर रखी जाए। इसके लिए स्टैटिक सर्विलांस टीम काम करेगी। दूसरा दल फ्लाई्रं स्क्वायड टीम होगी। जो ऐसे दलों की जांच करेगी। जांच अधिकारी वाहनों की जांच कर सकते हैं। पचास हजार रुपये अथवा दस हजार रुपये मूल्य से अधिक का उपहार अगर किसी के वाहन अथवा पास से बरामद होता है तो उसकी जांच करनी होगी। डीएम ने बताया नियम सख्त हैं लेकिन, जांच अधिकारी को विनम्र, मर्यादित व शिष्ट आचरण बरतना होगा। पूरे मामले की वीडियो ग्राफी होगी। अगर आपको लगता है कि संबंधित व्यक्ति लोगों को प्रलोभन देने के लिए राशि अथवा संसाधन का उपयोग करता है तो इसकी रिपोर्ट वरीय पदाधिकारियों को करें। जांच के दौरान यह भी ध्यान रखना है कि किसी महिला के पर्स की जांच कोई पुरुष अधिकारी नहीं करेगा। यह तभी संभव है जब वहां कोई महिला पुलिस कर्मी मौजूद रहे। अगर राजनीतिक पार्टी के लोग अथवा स्टार प्रचारक पचास हजार रुपये से अधिक रकम लेकर कहीं जा रहे हों तो वे अपनी पार्टी के कोषाध्यक्ष से उसका प्रमाणपत्र लेकर चलें। बैठक में एसपी उपेन्द्र नाथ वर्मा, दोनों एसडीओ, डीएसपी व सभी प्रखंड के बीडीओ, सीओ व थानाध्यक्ष मौजूद रहे।