बक्सर खबर: शुक्रवार की रात भर अनुमंडल ही नही पुरे जिले में डीजीपी व एआई के रेड से हडकंप मचा रहा है। इस दौरान डीजीपी गुप्तेश्वर पाण्डेय ने स्वंय कोरानसराय व एआईजी सुनील कुमार अचानक रेड़ कर दिए जिससे हक्का बक्का अधिकारियों का बंद हो गया। पुलिस सूत्रों कि माने तो डीजीपी को कोरानसराय थाने के जांच में कागजी प्रक्रिया में कोई त्रुटी नही मिली। इसके बाद कई दास्तवेज अपने साथ ले गए। वहीं डुमरांव थाने में निरीक्षण कर रहे एआईजी सुनील कुमार को थानेदार व एएसआई उमेश गुप्ता समेंत कई पदाधिकारियों के द्वारा केश चार्जशीट को अधुरा पाय गया। जिससे भड़क गए डुमरांव डीजीपी को पहुचते ही अपनी रिपोर्ट दी। यह सुनते ही भड़क गए। जिसके बाद एसपी उपेन्द्र नाथ वर्मा को थानाध्यक्ष समेत सभी एसआई और एएसआई को निलंबित करने का निर्देश दिए।
लाईन क्लोज होने वाले पदाधिकारी
बक्सर खबर: थानाध्यक्ष शिव नरायण राम, जेएसआई राजन मालवीय, रामाशंकर सिंह, एएसआई ज्ञान प्रकाश सिंह, हरि विनोद सिंह, उमेश गुप्ता, सुरेन्द्र कुमार राय व विवेकानंद शामिल है। केवल महिला एसआई स्मृति कुमारी को लाइन क्लोज नही किया गया है।

आज ज्वाईन करेगे ये पदाधिकारी एसपी ने दिए निर्देश
बक्सर खबर: थानाध्यक्ष इकरार अहमद खां जो अभी डुमरांव सर्किल कार्यलय में पद पर है। इसके अलावे एसआई नगर थाने से बबन प्रसाद यादव, राजेश कुमार चैधरी, विनय कुमार तिवारी(राजपुर), पुलिस लाईन से धमेन्द्र कुमार, सरफद्दीन, एएआई में राजगृह राम(नैनिजोर), दिग्विजय सिंह(राजपुर), कृपानरायण झा (मुफस्सिल थाना) को डुमरांव भेजा गया है। जबकि श्री भगवान पाण्डेय को अद्यौगिक थान से नैनिजोर भेजा गया है।

जांच के बाद होगे दोषी पाए जाने पर होगें निलंबित: एसपी
बक्सर खबर: एसपी उपेन्द्र नाथ वर्मा ने बताया कि डीजीपी सर के आदेश के बाद थानाध्यक्ष समेंत सभी जेएसआई व एएसआई को लाईन क्लोज किया गया है। सर अपने साथ सारे अभिलेख जांच के लिए ले गए है। रिर्पोट आने के बाद निलंबित या कोई भी कार्रवाई की जाएगी।