बक्सर खबर। स्कूलों में री एडमीशन क्यूं? जब बच्चे ने आपके यहां दाखिला पहले से ले रखा है। आप ट्यूशन फी अलग से ले रहे हैं। कम्प्यूटर और पीपुल फंड का ड्रामा अलग है। हर महीने इस तरह के अतिरिक्त शुल्क जमा करने वाले अभिभावकों को यह बोझ क्यूं। इसके खिलाफ पूरे जिले में और हर स्कूल के खिलाफ जन आंदोलन चलना चाहिए। प्रशासन को स्वयं आगे आकर कार्रवाई करनी चाहिए। इसकी मांग अब जिले में उठने लगी है। फिलहाल डीएवी स्कूल के खिलाफ आवाज बुलंद हो रही है। एक दिन पहले प्रदर्शन हुआ और हस्ताक्षर अभियान चल रहा है।

लोगों में री एडमीशन को लेकर आक्रोश है। क्योंकि विद्यालय प्रबंधन ने इसमें भारी इजाफा किया है। प्रदर्शन करने वाले युवकों ने चार सौ से अधिक अभिभावकों को हस्ताक्षर कराया है। विद्यालय के प्राचार्य से मिले हैं। फिलहाल उन्हें दो अप्रैल तक का समय दिया गया है। अगर बढ़ा गए शुल्क को वापस नहीं लिया गया तो एक बार फिर विरोध होगा। इस कार्य का नेतृत्व कर रहे आंदोलन संगठन के जिलाध्यक्ष गिट्टू तिवारी ने कहा कि फिलहाल प्रिंसिपल ने दो तक समय प्रबंधन से बात करने के लिए लिया है। अगर परिणाम सकारात्मक रहा तो ठिक अन्यथा विद्यालय में तालाबंदी होगी।

Comment