बक्सर खबर। भ्रष्टाचार अपने चरम पर है। पंचायत इकाई के प्रतिनिधि इसकी गिरफ्त में हैं। अगर उनकी चोरी पकड़ी भी जाए तो जांच करने वाले एजेंसी गोलमाल करने पर आमादा है। ऐसे में भ्रष्टाचार को दूर करना कितना मुश्किल है। ले दे कर मामला सरकार के पास जाता है। वहां भी बैठे लोग मामले पर पर्दा डालना चाह राह रहे हैं। ताजा प्रकरण सिमरी प्रखंड के केशोपुर गांव का है। यहां पंचायत मुखिया द्वारा गांव में पीसीसी कर गली का निर्माण कराया गया है। गांव की लोगों की माने तो सड़क ऐसी बनी है। जो एक तरफ से उखड़ रही है। ढ़लाई के नीचे ईट सोलिंग कार्य भी नहीं हुआ है।

गांव के युवक रवि मिश्रा ने इसकी शिकायत प्रखंड कार्यालय और लोक जन शिकायत कोषांग दोनों जगह किया है। जांच हुई तो गड़बड़ी उजागर हो गई। अब कार्रवाई करने की जगह अधिकारी उस मामले को रफा-दफा करना चाहते हैं। दो दिन पहले सुनवायी हुई। वहां अधिकारियों ने कहा फिर से गली की ढ़लाई होगी। शिकायत कर्ता का कहना है प्रशासन के अधिकारी जब जांच को पहुंचे तो मुखिया धमकी दे रहे थे। आप हमसे ढ़ाई लाख रुपया बतौर रंगदारी मांग रहे हैं। केशोपुर में हुआ गली का निर्माण सबके सामने है। जिसे कोई भी खुली आंख से देख सकता है। बावजूद इसके प्रशासन का यह रवैया लोगों को मायूस कर रहा है।
देख सकते हैं वीडियो : जांच करते अधिकारी और धमकी देते मुखिया पक्ष के लोग