बक्सर खबर: अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद डुमरांव इकाई के कार्यकर्ताओं द्वारा एबीवीपी बंगाल के कार्यकर्ता नगर सह मंत्री राजेश सरकार के मृत्यु पर ममता बनर्जी का पुतला फूंक विरोध जताया। इस दौरान विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं द्वारा आक्रोश मार्च निकालकर बंगाल सरकार के विरोधी नारे लगाए गए। पुतला दहन कार्यक्रम स्टेशन रोड एवं गोला रोड के मेन चैक पर किया गया। इससे पूर्व राज हाई स्कूल मैदान के प्रांगण से निकाला आक्रोश मार्च विद्यार्थी परिषद के प्रदेश कार्यसमिति सदस्य के नेतृत्व में बंगाल के मुख्यमंत्री का पुतला दहन किए जाने के बाद परिषद के कार्यकर्ताओं द्वारा एक सभा आयोजित की गई अपने संबोधन में संटू मित्रा ने कहा कि वर्तमान में बंगाल सरकार द्वारा अपराधी प्रवृत्ति वाले लोगों को आश्रय प्राप्त हो रहा है जिसके आए दिन अपराधियों के हौसले बुलंद होते जा रहे हैं। बंगाल को हिंदुओं के लिए नर्क में बदल रही है।

ममता बनर्जी यही ममता बानो बंगाली भाषा और बंगाली मनुष्य की बातें करने वाली ममता बनर्जी सरकार से जब एबीवीपी के छात्र बंगाली भाषा के शिक्षकों की कमी को लेकर आंदोलन कर रहे थे तब पुलिस द्वारा गोली चलवा कर उनकी हत्या करवा दी गई। परिषद कार्यकताओं ने कहा कि विद्यालय में गणित और बंगला शिक्षक ना होने के बावजूद 3 उर्दू शिक्षकों की भर्ती होती है यह कैसी विडम्बना छात्र अपनी मांगों को लेकर आवाज उठाते हैं तो उनको हत्या कर दी जाती है। ऐसी सरकार को विद्यार्थी परिषद कभी नहीं चाहेगी इसे उखाड़ फेंकने का काम करेंगे। वहीं नगर मंत्री अभिषेक पाठक जी ने कहा कि अगर घटना के जांच कर कार्रवाई नहीं हुई तो परिषद द्वारा सघन आंदोलन किया जाएगा। सभा का संचालन कार्यालय मंत्री लक्ष्मण राम ने किया। इस दौरान प्रभाकर तिवारी ,बाबूलाल राम बालेश्वर राम रोशन अमितांशु भगत चंदन सुजीत सिंह सोनू यादव कुन्दन केसरी विश्वजीत अभिजीत सहित कई कार्यकर्ता मौजूद रहे।