‌‌‌बेटी होतो ऐसी : बक्सर की कनिष्का को माइक्रोसॉफ्ट ने दिया 43॰30 लाख का पैकेज

0
2966

बक्सर बखर। बक्सर की बेटी कनिष्का ने जिले का नाम रोशन किया है। एनआइटी जमशेदपुर में वह कम्प्यूटर सांइस की छात्रा है। कैंपस सलेक्शन के दौरान माइक्रोसाफ्ट कंपनी ने उसके साथ 43॰30 लाख रुपये का सलाना करार किया है। कनिष्का आने वाले समय में बक्सर की लड़कियों के लिए प्रेरणा का स्त्रोत बन सकती है। एक सामान्य परिवार की बेटी होने के बाद भी उसने बहुत लंबी छलांग लगाई है। उसके मामा प्रियरंजन यादव ने बताया कि वह चौसा नरबतपुर की रहने वाली है।

पिता महेन्द्र कुमार सिंह गुजरात में प्राइवेट नौकरी करते हैं। मां किरण देवी गृहिणी हैं। अगर ऐसा है तो वह एनआइटी जमशेदपुर कैसे पहुंची। यह पूछने पर उन्होंने बताया उसके दादा केशव यादव बोकारा स्टील प्लांट में काम करते थे। उनके पुत्र महेन्द्र का परिवार भी साथ रहता था। वे नौकरी करने गुजरात चले गए। यहां उनका बेटा सोनू और बेटी कनिष्का पढ़ाई करने लगे। कनिष्का की प्राथमिक शिक्षा एमजीएम हायर सेकेंड्री स्कूल बोकारो से हुई। फिर उसका दाखिला एनआइटी जमशेदपुर में हुआ। उसका बड़ा भाई सोनू भी इंजीनियर है। लेकिन उसका पैकेज इतना बड़ा नहीं है। आज बेटी ने यह साबित कर दिया कि वह किसी से कम नहीं। इस तरफ उसका रूझान कैसे गया। यह पूछने पर उन्होंने बताया कि झारखंड के अखबारों में छपा है। बचपन से ही उसे नई चिजों के प्रयोग की ललक थी। पढ़ाई के दौरान उसने देखा कि जितने भी उपकरण उसने इस्तेमाल किए। उसमें माइक्रोसॉफ्ट सबसे अधिक है। उसने तय किया इसी कंपनी को चुनना है। उसने कम्प्यूटर साइंस को अपना विषय बनाया। उसी लगन ने आज बेहतर मुकाम दिया है।