बक्सर खबर। नया बाजार के रहने वाले अमरजीत यादव की हत्या आपसी रंजिश का परिणाम है। कुछ दिन पहले गणेश यादव के गैंग पर कुछ लोगों ने गोलीबारी की थी। दूसरे गिरोह के लोगों का मानना था कि इसमें अमरजीत एवं उसके साथियों का हाथ है। बदले की नियत से राकेश और उसके साथियों ने मिलकर गणतंत्र दिवस के दिन ही अमरजीत को निशाना बना दिया। ऐसा करने वाले सभी अपराधी फरार हो गए। उनकी गिरफ्तारी के लिए सदर डीएसपी सतीश कुमार के नेतृत्व में एक टीम का गठन हुआ। पुलिस राकेश और उसके साथियों की तलाश में जुट गई। शनिवार की रात सूचना मिली यह आपराधिक बक्सर पहुंच रहे हैं। पुलिस ने जाल बिछाया और रविवार को उन्हें दबोच लिया।

एसपी उपेंद्र नाथ वर्मा ने आज शनिवार को पत्रकार वार्ता के दौरान यह जानकारी दी। जो चार अपराधी पकड़े गए हैं उनके पास से दो देशी तमंचे, दो मोबाइल फोन और 6 जिंदा कारतूस बरामद हुए हैं। इन के नाम राकेश कुमार उर्फ बउवा पुत्र फागू यादव, निवासी नया बाजार, सूरज कुमार पुत्र सुरेश कुमार आईटीआई मैदान के समीप बक्सर, अशोक यादव उर्फ जिउत यादव पुत्र बबन यादव नया बाजार, मुकेश कुमार पुत्र बबन सिंह ग्राम बड़कानुआव थाना मुफस्सिल। पुलिस रिकॉर्ड में राकेश, सूरज एवं अशोक यादव का पुराना आपराधिक इतिहास है। एसपी के अनुसार इस सफलता में नगर कोतवाल दयानंद सिंह, मुफस्सिल के थानाध्यक्ष जितेंद्र कुमार, नगर थाने में तैनात असलम शेर एवं डीआईयू के प्रभारी आलोक कुमार का अहम योगदान है।