बक्सर खबर। शहर में रविवार को धार्मिक भावना के नाम पर जो हुआ। वह प्रशासनिक विफलता का परिणाम रहा। सुबह तीन घंटे तक शहर के अनेक लोग प्रशासन से आग्रह करते रहे। सोशल मीडिया पर धार्मिक भावना आहत की जा रही है। प्रशासन कार्रवाई करे। लेकिन, प्रशासन ने कार्रवाई में विलंब किया। संयोग रहा कि बवाल-होते-होते टल गया। लेकिन, बगैर अनुमति के कार्यक्रम करने की बात हो अथवा सांप्रदायिक सौहार्द बिगाडऩे का प्रयास। इस मामले में चौबीस घंटे बाद भी प्रशासन द्वारा कोई शिकायत दर्ज नहीं कराई गयी। पूछने पर नगर थानाध्यक्ष ने कहा कल दो मामले दर्ज हुए थे। अन्य कोई मुकदमा दर्ज नहीं हुआ।

इस बीच दूसरी तरफ मारपीट के आरोप में जीन तीन युवकों को पुलिस ने जेल भेजा था। उन्हें आज सोमवार को न्यायालय के आदेश पर जमानत पर रिहा कर दिया गया। बाहर आने के बाद सौरभ तिवारी, गिट्टू तिवारी और रविशंकर का स्वागत हुआ और जुलूस निकाला गया। भाजपा नेता ओम प्रकाश भुवन ने कहा अगर दीपक प्राथमिकी दर्ज नहीं कराते तो अपराधी छुट्टा घूमते। पूछने पर पुलिस कप्तान उपेन्द्र कुमार वर्मा ने कहा एक ही आरोप में दो प्राथमिकी दर्ज करना उचित नहीं था। जब पब्लिक ने आवेदन दे दिया तो प्रशासन को मुकदमा दर्ज करने की जरुरत नहीं रही।

add