बक्सर खबर। पंचकोश मेला अर्थात पंचकोशी परिक्रमा इस माह की 27 तारीख से प्रारंभ हो रही है। इसकी तैयारी के लिए आज शुक्रवार को एसडीओ के के उपाध्याय की अध्यक्षता में बैठक हुई। बैठक में मेला क्षेत्र के सभी पंचायत मुखिया और परिक्रमा समिति के लोगों को आमंत्रित किया गया था। सबने अपने सुझाव दिए। मेला 27 तारीख से प्रारंभ हो रहा है। जिसका पहला पडाव अहिरौली, दूसरा पडाव नदांव, तीसरा पडाव भभुअर, चौथा नुआंव एवं पांचवा और अंतिम पडाव चरित्रवन है। नगर छोडकर सभी चार झेत्र सदर प्रखंड के अंतर्गत आते हैं। जिसे देखते हुए, साफ-सफाई, रास्तों की मरम्मत एवं अस्थाई शौचालय आदि का प्रबंध करने की हिदायत एसडीओ ने सदर बीडीओ को दी। इस कार्य में पंचायत स्तर पर सहयोग की बात कही गई।

 1 को लगेगा लिटटी-चोखा
बक्सर खबर। बक्सर का विश्व विख्यात पंचकोशी मेला 1 दिसम्बर को बक्सर में लगेगा। उस दिन शनिवार है, इस लिए भीड कुछ ज्यादा ही होने का अनुमान है। मेले का प्रभाव ऐसा होता है कि उस दिन बक्सर ही नहीं पूरे बिहार के लोग लिटृटी-चोखा बनाते और खाते हैं। अगहन मास की शुक्ल पंचमी को प्रारंभ हुए मेले की मान्यता है कि भगवान राम ने विश्वामित्र मुनी के आश्रम में लिटटी चोखा का प्रसाद ग्रहण किया था।
पंचकोश मेला के बारे में जानने के लिए पढे यह खबर :-  बक्सर का पंचकोशी मेला 

add विज्ञापन

Comment