बक्सर खबरः दवा व्यवसायी गोलीबारी कांड में मुखिया पुत्र को पकड़ा है। गिरफ्तारी गुरूवार दोपहर डुमरांव पुलिस ने सुमित गुप्ता को उसके गांव से हलांकि पुलिस अभी कछ भी बोलने से कतरा रही है। सूत्रों की मानें तो एक सप्ताह पूर्व 14 सितम्बर देर रात डुमराव थाना क्षेत्र के स्टेशन रोड़ स्थित दृष्टी फार्मा दवा दुकान पर संचालक संजय दयाल के भाई सुधीर दयाल पर दो अज्ञात बाइक सवार अपराधी ने गोलीबारी की थी। जिसमें सुधीर ने दो अज्ञात लोगों पर मामला दर्ज कराया था। जिसमें शंका जाहीर की थी कि 4 अपैल 2017 को दुकान संचालक संजय दयाल और कुख्यात अपराधी धीरज मिश्रा, मंगल तिवारी, और मुखिया पुत्र सुमित ने मार पीट की थी। जिसमें जान से मारने की धमकी दी। इसका सनहा स्थानीय थाने में दर्ज है। हलांकि तीन लोगों में से दो औरंगाबाद जिले के जेल में बंद है।

जबकि सुमित बाहर है था इसके गिरफ्तारी के लिए लगातार एक सप्ताह से छापेमारी कर रही। सुमित गुप्ता का विवादों से पुराना नाता रहा है। पहली बार गुप्ता का नाम डुमरांव आरईओ2 इंजिनियर कार्यालय में अगस्त 2013 गोली-बारी हुई थी। जिसमें एक की मौत हा गई थी। जबकि इंजिनियर ईश्वरचंद्र को पेट में गोली लगी थी। उसी धीरज मिश्रा के साथ सुमित सहित 14 उछला था। जिसमें कई लोग जेल गये थे। परन्तु साक्ष्य के अभाव सुमित बरी हो गये। डुमरांव एसडीपीओ कमलापति सिंह ने कहा पुछताछ के लिए पकड़ा गया। स्थिति सुबह ही स्पष्ट हो पायेगी। कई बिंदुओं पर जांच की जा रही है।