बक्सर खबर : कोचिंग पढऩे जाने वाली किशोरी को अपने गुरुजी के प्यार हो गया। फिर क्या था, एक दिन ऐसा आया गरुजी शिष्या के साथ फरार हो गए। इसकी शिकायत नाबालिग किशोरी के पिता ने ब्रह्मपुर थाने में दर्ज कराई है। उनके अनुसार उनकी बच्ची अबोध है। वह जिसके यहां ट्यूशन पढऩे जाती थी। वह उसे अपने झांसे में लेता रहा। मेरी बेटी को उसने ऐसा पाठ पढ़ाया कि उसे भले बूरे का ज्ञान नहीं रहा। वह घर से भाग निकली। नौवीं कक्षा की यह छात्रा पिछले बीस दिन से फरार है। उसकी आयु लगभग 15-16 वर्ष है।

जिस युवक के साथ वह भागी है। वह भी उसके गांव का ही रहने वाला है। उसकी आयु लगभग 24 वर्ष है। लड़की के पिता घटना के बाद पिछले बीस दिनों से लड़के के घर पर जाते रहे। उसके पिता और बड़ा भाई मनु कुमार ने आश्वासन दिया। जम जल्द ही उसे बुला लेंगे। इस बीच गुरुवार को लड़का पक्ष वालों ने पूरी तरह पल्ला झाड़ लिया। थक कर लड़की के पिता ने थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई। छात्रा के पिता ने उसके शिक्षक सोनू कुमार पर अपहरण करने एवं उनके भाई मोनू तथा पिता हरी मोहन सिंह पर इस साजिश में शामिल होने की धाराओं में प्राथमिकी दर्ज कराई है।