बक्सर खबर : दुकानदार को लूटने पहुंचे छह में चार अपराधियों को भीड़ ने पीट कर मार डाला। घटना रोहतास जिला के दावथ थाना अंतर्गत कोआथ बाजार की है। मारे गए चार अपराधियों में से दो बक्सर के हैं। पुलिस अभी इनकी पहचान का दावा नहीं कर रही।  अभिषेक दुबे पिता बृजकुमार दुबे निवासी दुधी पट्टी सिमरी है। दूसरे युवक का नाम भी अभिषेक दुबे है। वह दनपुरा (नंगवा), थाना सिमरी का निवासी है। उसके पिता संत कुमार दुबे है। रोहतास पुलिस ने इसकी सूचना सिमरी थानाध्यक्ष को दी। वहां से सूचना मिलने के बाद इन दोनों परिवार के लोग पहचान के लिए दावथ थाना रवाना हो गए हैं।

क्या है घटना क्रम
बक्सर : दावथ थानाध्यक्ष आलोक कुमार ने बताया कोआथ बाजार में अरुण कुमार चौधरी की दुकान है। उनसे दो दिन पहले रंगदारी मांगी गई थी। मंगलवार की सुबह आठ बजे जैसे ही दुकान खुली। छह अपराधी वहां बाइक से आ धमके। उन्होंने गोली चलानी शुरु की। दुकान पर मौजूद भुलन चौधरी को गोली जा लगी। त्योहार के कारण बाजार में भीड़ थी। पब्लिक ने कुछ अपराधियों को पकड़ लिया। शेष दो भाग चले। पुलिस के आन से पहले ही भीड़ ने उन चारों को इतना मारा की। घटना स्थल पर ही उनकी मौत हो गई। मौके पर पहुंची पुलिस उन्हें अस्पताल ले गई। जहां डाक्टरों ने चारों को मृत घोषित कर दिया। सुबह किसी की पहचान नहीं हुई। धीरे-धीरे प्राप्त जानकारी के आधार पर इनकी पहचान का प्रयास किया गया। इस बीच पता चला कि यह सभी रोहतास के लक्ष्मण एंड गोविंद गिरोह के लिए काम करते थे।

जिस दुकान में गोली चली वहां पूछताछ करती पुलिस

जिले में दर्ज हैं अभिषेक के खिलाफ दो मामले
बक्सर : सिमरी के थानाध्यक्ष ने बताया कि अभिषेक दुबे के खिलाफ जिले में दो मामले दर्ज हैं। दो वर्ष पहले डुमरांव में हुए मुर्गा व्यवसायी हत्या कांड में इसका नाम सामने आया था। जब चंचल मिश्रा नाम का अपराधी पकड़ा गया। फिलहाल वह जेल में है। उसी ने अभिषेक का नाम बताया था। इसके अलावा राजपुर थाना क्षेत्र में हुई लूट में भी इसका नाम सामने आया था।

बाइक व देशी तमंचा बरामद

बक्सर: अपराधियाें के पास से पुलिस ने एक बाइक बरामद की है। साथ ही 315 बोर का देशी तमंचा भी मिला है। उनके मोबाइल फोन की जानकारी नहीं मिली है। कुछ कागजात भी इनके पास से मिले हैं। जिसके आधार पर बक्सर के युवकों का पता चला। लेकिन पुलिस परिजनों द्वारा पहचान का इंतजार कर रही है।