भाजपा से डुमरांव महराज नाराज, राष्ट्रीय अध्यक्ष को लिखा पत्र

0
1622

बक्सर खबर : डुमरांव महाराज महाराजा कमल बहादुर सिंह भाजपा के शीर्ष नेतृत्व से काफी नाराज हैं। उन्होंने गुरुवार को प्रेस वार्ता आयोजित कर इसकी जानकारी दी। प्रथम लोकसभा के सदस्य महाराज ने कहा कि राज माता विजय राजे सिंधिया पार्टी की संस्थापक सदस्यों में से एक थीं। 1957 में उन्होंने लोकसभा चुनाव जीता था। तब से लेकर अपनी अंतिम सांस तक भाजपा के भले के लिए उन्होंने कार्य किया। 12 अक्टूबर 1919 को मध्य प्रदेश में उनका जन्म हुआ। 21 फरवरी 1941 को उनकी शादी ग्वालियर के महाराज से हुई। दल के लिए उन्होंने ऐसे अनेक कार्य किए। जिससे पार्टी हमेशा याद रखेगी। बावजूद इसके उनकी जयंती किसी को याद नहीं रही। हम इससे काफी आहत हैं। मार्बल हाउस डुमरांव में हुई प्रेस वार्ता के दौरान महाराज ने कहा। दल के वर्तमान लोगों का दायित्व बनता है। वे अपने वरिष्ठ लोगों का आदर सम्मान करें। इससे दल मजबूत होता है और भारतीय संस्कृति को बल मिलता है। महाराज के साथ उनके पौत्र युवा भाजपा नेता शिवांग विजय सिंह भी मौजूद थे।